झांसी मंडल मे पीडब्ल्यूडी के कामों की होगी जांच

इस ख़बर को शेयर करें:

झांसी । सरकारी योजना के क्रियान्वयन में विभागीय लापरवाही पर लगाम कसने की कवायद के तहत उत्तर प्रदेश में झांसी के मंडलायुक्त ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत लोक निर्माण विभाग (पीडब्लयूडी) के कराये गये कामों की जांच के आदेश दिये हैं।

यहां आयुक्त सभागार में विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त कुमुदलता श्रीवास्तव ने कहा है कि ग्रामीण अभियंत्रण विभाग एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में जहां-जहां पर भी निर्माण किया जा रहा है, उसकी गुणवत्ता की जांच सभी जिलाधिकारी भी करें। किसी प्रकार की कोई कमी पाए जाने पर संबंधित ठेकेदारों के विरुद्व भी फौरन कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

मंडलायुक्त ने योजना के अंतर्गत कार्य की प्रगति में खराबी मिलने पर जूनियर इंजीनियर टेक्नीकल लक्ष्मीप्रसाद को कार्यों में तेजी लाने और सभी कार्य समयबद्व ढंग से पूरा करने के निर्देश दिए। साथ ही संयुक्त विकास आयुक्त एवं अर्थ तथा संख्या उप निदेशक को निर्देश दिया कि वे प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत मंडल में कराए गए कार्यों की स्वयं मौके पर जांचकर गुणवत्ता, लेपन आदि की अद्यतन रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

उन्होंने मंडल के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने जिले के प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला चिकित्सालयों का औचक निरीक्षण करें और कमी पाए जाने पर संबंधित एमओआईसी. के विरुद्व कठोरतम कार्रवाई करें। मंडलायुक्त ने हैंडपम्प रिबोर की जानकारी पंचायत उप निदेशक आरएस चौधरी से तलब करते हुए बताया कि कुछ स्थानों पर हैंडपंप रिबोर योग्य बताकर फर्जी रिबोर कराकर पैसा ले लिया गया है।

पंचायत उप निदेशक को दो दिन के अंदर फर्जी रिबोर कराए गए हैंडपंपों की सूची प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा है कि पानी दे रहे हैंडपंपों को फर्जी रिबोर कराकर पैसा हजम करने वाले विभागों व संस्थाओं को गबन की श्रेणी में रखते हुए उनके विरुद्व एफआईआर दर्ज होगी।

मंडलायुक्त ने फसल ऋणमाफी योजना, आंगनबाडी केन्द्रों के निर्माण, विद्यालयों के निरीक्षण, सभी विभागों में रिक्त पदों की सूचना भिजवाने, आईजीआरएस की भी समीक्षा की। बैठक में अपर आयुक्त प्रशासन उर्मिला सोनकर खाबरी, जिलाधिकारी ललितपुर मानवेंद्र सिंह, जिलाधिकारी जालौन अख्तर मन्नान, मुख्य विकास अधिकारी जालौन, संयुक्त विकास आयुक्त लालजी यादव, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या उपस्थित रहे।