अन्नाद्रमुक के हंगामे के कारण लोकसभा में नहीं हो सका प्रश्नकाल

इस ख़बर को शेयर करें:

नयी दिल्ली । संसद के बजट सत्र के दूसरे में चरण में लोकसभा में लगातार 17वें दिन विपक्षी दलों के सदस्यों ने आज भी भारी हंगामा किया जिसके अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को सदन की कार्यवाही साेमवार तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। अन्नाद्रमुक के सदस्यों के हंगामे के कारण पांच मिनट के अंदर ही कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित करनी पड़ी।

सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होते ही अन्नाद्रमुक के सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप पहुंचकर ‘हमें न्याय चाहिए’ के नारे लगाने लगे। उन्होंने अपनी मांगों वाले प्लेकार्ड भी हाथों में ले रखे थे और काले, सफेद एवं लाल रंग का तिरंगे पटके भी लगा रखे थे। इस दौरान पीला पटका लगाये तेदेपा सदस्यों समेत सभी सदस्य शांतिपूर्वक अपनी सीटों पर बैठे रहे।

अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने अन्नाद्रमुक के सदस्यों से अपनी सीटों पर जाकर बैठने को कहा और शांति बनाये रखने की अपील की लेकिन नारेबाजी कर रहे अन्नाद्रमुक के सदस्यों पर उनकी अपील का कोई असर नहीं हुआ।

हंगामे के बीच ही अध्यक्ष ने प्रश्न तथा मंत्री को पुकारकर प्रश्नकाल की कार्यवाही चलाने की कोशिश की। नारेबाजी और हंगामा जारी रहने पर अध्यक्ष ने कहा ,’आप सदन नहीं चलाना चाहते हैं।’ उन्होंने कहा कि यदि सभी सदस्य सदन नहीं चलाना चाहते हैं तो कार्यवाही समाप्त करनी पड़ेगी और सदन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करना पड़ेगा।

इसके बाद उन्होंने 11 बजकर पांच मिनट पर सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी। पांच मार्च से बजट सत्र का दूसरा चरण शुरू होने के बाद ही विभिन्न मुद्दों काे लेकर विपक्ष के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही बाधित चल रही है और प्रश्नकाल नहीं हो पा रहा है।