हरियाणा : प्राइवेट नौकरियों में लोकल लोगों के लिए 75 फीसदी कोटा तय, विधेयक को मिली मंजूरी

इस विधेयक के नियम निजी कंपनियों, सोसाइटियों, ट्रस्टों और साझेदारी वाली कंपनियों पर भी लागू होंगे

हरियाणा विधानसभा (Haryana Assembly) ने एक अहम विधेयक को मंजूरी प्रदान कर दी जिसमें प्राइवेट सेक्टर की नौकरियों (private jobs) में राज्य के नौजवानों के लिए 75 परसेंट कोटा तय करने का प्रावधान किया गया है. राज्यपाल से मंजूरी मिल जाने के बाद यह विधेयक कानून बन जाएगा.

हरियाणा राज्य स्थानीय उम्मीदवारों को रोजगार विधेयक, 2020 में प्राइवेट सेक्टर की ऐसी नौकरियों में स्थानीय लोगों के लिए 75 फीसदी आरक्षण प्रदान करता है जिनमें वेतन 50,000 रुपये प्रति माह से कम है. इस विधेयक के नियम निजी कंपनियों, सोसाइटियों, ट्रस्टों और साझेदारी वाली कंपनियों पर भी लागू होंगे.

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री और जननायक जनता पार्टी (Jannayak Janta Party) के नेता दुष्यंत चौटाला ने इस विधेयक को यहां विधानसभा में पेश किया. दुष्यंत चौटाल ने ट्वीट कर इस विधेयक के बारे में कहा, ‘हरियाणा के लाखों युवाओं से किया हमारा वादा आज पूरा हुआ है. अब प्रदेश की सभी प्राइवेट नौकरियों में 75 परसेंट हरियाणा के युवा होंगे.

सरकार का हिस्सा बनने के ठीक एक साल बाद आया ये पल मेरे लिए भावुक करने वाला है. जननायक की प्रेरणा और आपके सहयोग से सदैव आपकी सेवा करता रहूं,यही मेरी कामना है.’ बता दें कि दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा विधानसभा चुनाव के दौरान अपने चुनावी घोषणा पत्र में स्थानीय लोगों को प्राइवेट नौकरियों में आरक्षण देने का वादा किया था.