रेलवे ने सभी नियमित यात्री सेवाओं को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित किया

देश में कोरोना वायरस (Covid-19) दिन प्रतिदिन बढ़ते मामलों के मद्देनजर रेलवे (Indian Railway) ने बड़ा कदम उठाया है. रेलवे ने कहा है कि सभी नियमित यात्री ट्रेन सेवाएं अगले नोटिस तक निलंबित रहेंगी, वहीं 230 विशेष ट्रेनें चलती रहेंगी. रेलवे ने एक बयान में कहा, ‘सभी संबंधित पक्षों के संज्ञान में लाया जाता है कि नियमित यात्री और लोकल ट्रेन सेवाएं अगले नोटिस तक निलंबित रहेंगी.’

चलती रहेंगी 230 विशेष ट्रेनें
रेलवे ने कहा है, ‘गौरतलब है कि इस समय चल रहीं 230 विशेष ट्रेनें चलती रहेंगी. मुंबई में राज्य सरकार की जरूरत के अनुसार केवल सीमित आधार पर चल रहीं लोकल ट्रेनें भी चलती रहेंगी.’ रेलवे ने कहा कि विशेष ट्रेनों में यात्रियों की संख्या पर नियमित नजर रखी जा रही है और आवश्यकता के आधार पर अतिरिक्त विशेष ट्रेनें चलाई जा सकती हैं. रेलवे ने कहा कि हालांकि लॉकडाउन से पहले तक चल रहीं अन्य सभी नियमित ट्रेनें और उपनगरीय ट्रेनें अगले नोटिस तक निलंबित रहेंगी. इससे पहले रेलवे ने सभी ट्रेन सेवाओं को 12 अगस्त तक निलंबित कर दिया था.

166 सालों में पहली बार कोरोना के वक्त पहिए रुके
गौरतलब है कि बीते मार्च महीने से देशभर में शुरू किए गए सख्त लॉक़डाउन के बाद रेल ऑपरेशन बंद कर दिया गया था. दुनिया के चौथे बड़े रेल नेटवर्क भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए यात्री ट्रेनों का आपरेशन बंद किया था. 166 सालों में ये पहला मौका था जबकि भारतीय रेलवे ट्रेनों का संचालन बंद किया. ट्रेनों के पहिए थम गए.

भारतीय रेलवे रोज 20,000 से ज्यादा यात्री ट्रेनें संचालित करता है. लॉकडाउन से पहले तक इन ट्रेनों से रोज करीब ढाई करोड़ लोग सफर करते रहे हैं. केवल मुंबई की लोकल ट्रेनों से ही रोज 80 लाख लोग आते-जाते हैं.

भारत में कोरोना के 6 लाख से ज्यादा एक्टिव केस
भारत में इस वक्त तकरीबन रोज रिकॉर्ड संख्या में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. अब तक देश में महामारी के कुल 22,68,675 मामले सामने आए हैं. इनमें से 1583489 ठीक हो चुके हैं. एक्टिव केस 639929 हैं तो वहीं अब तक 45257 लोगों ने जान गंवाई है.