जंगल में तालाब के पानी से बनाई जा रही कच्ची शराब, 32 ड्रम लाहन नष्ट

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर@ पनागर से लगे घने जंगलों के बीच कच्ची शराब की बहुत बड़े रूप में चल रही फैक्ट्री का आबकारी विभाग ने भंडाफोड़ किया। आरोपी जंगल की झाड़ियों में ड्रम छिपा देते थे। जंगल के बीच तालाब के पानी द्वारा महुआ को सड़ाया जाता है। महुआ लाहन से 2.70 लाख रुपए की कच्ची शराब तैयार होती। ककरहाई क्षेत्र के जंगल में बन रही थी शराब, दो जगह दबिश देकर 32 ड्रम महुआ लाहन नष्ट किया।

आबकारी विभाग ने सूचना पर गुरुवार को पनागर के ककरहाई क्षेत्र वाले जंगल में दबिश दी। कंट्रोल रूम प्रभारी जीएल मरावी की अगुवाई में टीम जंगल पहुंची, तो वहां दो स्थानों पर झाड़ियों में छिपाए गए 32 ड्रम मिले। सभी ड्रम में महुआ सड़ाया जा रहा था। इसी से कच्ची शराब तैयार होती। इस तरह कच्ची शराब धड़ल्ले से तैयार करके बेची जा रही है।

टीम ने मौके से तीन हाथ भट्‌ठी, 140 लीटर तैयार कच्ची शराब भी जब्त किया। विभाग ने कुल 12 मामले दर्ज किए। बरामद शराब की कीमत 14 हजार रुपए बताई गई है। जंगल में कच्ची शराब बनाने वाले आरोपी पुलिस को देखकर घने जंगल के रास्ते भाग निकले।