‘रियल एस्टेट ब्रोक्रेज’ कम्पनी बनाकर फ्लैट/प्लाट दिलाये जाने के नाम पर करोडोे रूपये की ठगी करने वाले गिरोह के 02 मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार

लखनऊ: एस0टी0एफ0, उत्तर प्रदेश को ‘रियल एस्टेट ब्रोक्रेज’ कम्पनी बनाकर फ्लैट/प्लाट दिलाने के नाम पर जनता से धोखाधडी करके करोडोें रूपये की ठगी करने वाले गिरोह के 02 इनामी अभियुक्तों कुणाल डोगरा तथा सुरेन्द्र कुमार डौगरा को नोएडा, गौतमबुद्धनगर से गिरफ्तार करने मे उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-
1-कुणाल डौगरा पुत्र सुरेन्द्र कुमार डौगरा निवासी बी-202 आम्रपाली स्फायर सेक्टर-45 नौएडा हाल पता- ए-235 सिल्वर सिटी थीमस मुबारकपुर रोड डेराबस्सी, थाना डेराबस्सी जनपद पटियाला पंजाब।
2-सुरेन्द्र कुमार डौगरा पुत्र रतन लाल डौगरा निवासी उपरोक्त।

श्री अमित पाठक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0, उ0प्र0 लखनऊ के निर्देशानुसार इनामी अपराधियोें के विरूद्व चलाये जा रहे अभियान के अन्तर्गत श्री राजीव नारायण मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन एवं श्री राजकुमार मिश्रा, पुलिस उपाधीक्षक, एस0टी0एफ0 पश्चिमी गौतमबुद्वनगर के नेतृत्व में गठित एस0टी0एफ0 टीमों द्वारा जनपद गौतमबुद्वनगर एवं उसके आसपास के जनपदों में अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी। इसी दौरान जब एस0टी0एफ0 टीम उप निरीक्षक श्री सचिन कुमार के नेतृत्व में नोएडा, जनपद-गौतमबुद्धनगर में अभिसूचना संकलन हेतु भ्रमणशील थी तो विश्वसनीय स्रोत के माध्यम से ज्ञात हुआ कि जनपद गौतमबुद्धनगर में जनता के लोगोें से ठगी करने हेतु विभिन्न कम्पनियां बनाकर कई संगठित गिरोह सक्रिय हैं, जो लोगोें की मेहनत की कमाई को अलग-अलग तरीके से ठगने का कार्य करते हैं तथा ठगी करने के पश्चात अन्य राज्योें/शहरोे मेें छिपकर रहने लगते हंैे। इसी प्रकार इस गिरोह द्वारा स्पेसरा इन्फ्राविजन कंपनी बनाकर लोगोें से करोड़ोें रूपये की ठगी की गयी है, जिसके सम्बन्ध मेें थाना सैक्टर-39 एवं सैक्टर-58 एवं दिल्ली के कई थानोें पर अभियोग पंजीकृत हैं, परन्तु अभी तक यह गिरोह पुलिस की गिरफ्त मेें नही आ सका हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में जनपद-गौतमबुद्धनगर में पंजीकृत अभियोग में वांछित अभियुक्तों पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गौतमबुद्धनगर के स्तर से पुरस्कार घोषित किये जाने की भी जानकारी प्राप्त हुई, जिस पर इस गिरोह की तलाश हेतु प्रयास तेज किये गये। अभिसूचना संकलन के दौरान दिनांक 29-01-2017 को सटीक जानकारी प्राप्त हुई कि इस गिरोह से सम्बन्धित 02 इनामी अपराधी कुणाल डोैगरा व सुरेन्द्र डौगरा नौएडा आये हुए हैं और महामाया फलाईओवर थाना सैक्टर-39, नोएडा के समीप मौजूद हैैं। इस पर एस0टी0एफ0 टीम द्वारा स्थानीय पुलिस के सहयोग से उक्त स्थान पर पहुॅचकर घेराबन्दी की गयी तथा दिनंाकः 29-01-2017 की सायं अभियुक्त कुणाल डौगरा व सुरेन्द्र डौगरा उपरोक्त को महामाया फलाईओवर थाना सैक्टर-39, नोएडा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तार अभियुक्तों से की गयी पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि अभियुक्त कुणाल डौगरा एम0बी0ए0 है तथा सुरेन्द्र डौगरा बैंक आॅॅॅफ बडौदा का पूर्व कर्मचारी है, जो पहले सायस डेव्लपर्स कम्पनी, नोएडा मेें रियल एस्टेट ब्रोके्रज का कार्य पार्टनरशिप मेें निपुण बंसल निवासी नौएडा के साथ करता था। इनके द्वारा फ्लेैट/प्लाॅट दिलाने के नाम पर कई लोगोें से ठगी की गयी। इसके बाद इस कार्य मेें भारी लाभ प्राप्त होने पर इन लोगोें ने जनवरी 2015 मेें ‘स्पेसरा इन्फ्राविजन’ नाम से एक कम्पनी बना ली गयी, जिसमेें विभिन्न कर्मचारियोें/पार्टनर के माध्यम से लोगोें को फ्लेैट/प्लाॅट दिलाने एवं रिसेल मेें अच्छा मुनाफा कमाने का लालच देकर अनेक लोगोें से ठगी की गयी। इसमें मुख्य रूप से नौएडा एक्सटेंन्शन की मेसकार्ट मनोरथ व गे्रटर नौएडा की कासा ग्रीन्स तथा अन्य प्रोजेक्ट मेें अन्डर राईटर बिल्डर पार्टनर होनेे की बात बताकर लोगो को झासा देकर प्रमुख रूप से ठगी की गयी है। इनके द्वारा पीड़ित/वादी श्री आशीष भट्टाचार्य निवासी सरिता विहार, नई दिल्ली से फ्लैट दिलाने के नाम पर लगभग 87 लाख रूपये वसूले गये और उनके नाम से कोई फ्लैट बुक नही किया गया। इस सम्बन्ध मेें आशीष भट्टाचार्य द्वारा थाना सैक्टर-39, नोएडा पर अभियोग पंजीकृत कराया गया, जिसकी विवेचना क्राईम ब्राॅच, गौतमबुद्धनगर द्वारा की जा रही है।

उपरेाक्त के अतिरिक्त इन लोगों द्वारा डा0 संदीप नागर निवासी सैक्टर-19 गौतमबुद्धनगर से मेसकार्ट मनोरथ मेें फ्लैट दिलाने के नाम पर लगभग 44 लाख रूपये की ठगी की गयी, जिसके सम्बन्ध में थाना सैेक्टर-58 गौतमबुद्धनगर मेें अभियोग पंजीकृत है। नेवी मेें कमाण्डर के पद पर नियुक्त श्री राजकुमार नागर निवासी मुम्बई से भी 23 लाख रूपये एवं नरेश गर्ग निवासी-नौएडा, जनपद-गौतमबुद्धनगर से 09 लाख रूपये फ्लैट दिलाने के नाम पर ठगी करने की बात भी प्रकाश मेें आयी है। यह भी ज्ञात हुआ कि अभियुक्त कुणाल डौगरा गौतमबुद्धनगर मेें विभिन्न लोगोें से ठगी करने के बाद दुबई भाग गया था, जहाॅ पर वह रियल एस्टेट के कारोबार मेें सक्रिय हो गया था। इसके परिवार के सदस्य तथा अन्य साथियों के भी नोएडा छोड़कर अन्य शहरोें मेें जाकर निवास करने की बात प्रकाश में आयी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गौतमबुद्धनगर द्वारा अभियुक्तगण कुणाल डौगरा व सुरेन्द्र कुमार डौगरा की गिरफ्तारी हेतु पाॅच-पाॅच हजार रूपये का पुरस्कार घोषित किया गया गया था।

गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध पंजीकृत अभियोगः
1- मु0अ0स0ं 492/16 धारा-420/467/468/471/406/120बी/506 भादवि थाना सैक्टर- 39, नोएडा, जनपद-गौतमबुद्धनगर।
2- मु0अ0स0ं 03/17 धारा-420/467/468/471/406/120बी भादवि थाना सैक्टर- 58, नोएडा, जनपद-गौतमबुद्धनगर।

गिरफ्तार दोनो अभियुक्तों को थाना सैक्टर-39, नोएडा, जनपद गौतमबुद्धनगर मेें दाखिल किया गया है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।