कीटनाशक का विक्रय प्रतिबंधित

सीहोर@ वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी पदेन कीटनाशी निरीक्षक ने मैसर्स जय मां विन्धवासनी कृषि सेवा केन्द्र रेहटी विकास खण्ड बुधनी से मेसर्स नाडिया बायोटेक प्रायवेट लिमिटेड के द्वारा निर्मित कीटनाशक औषधि का नमूना लिया गया, जो कि विश्लेषण हेतु कीटनाशी गुण नियंत्रण प्रयोगशाला जबलपुर भेजा गया। प्रयोगशाला से प्राप्त विश्लेषण रिपार्ट अनुसार उक्त कीटनाशक औषधि नमूना अमानक स्तर का पाया गया। कीटनाशक औषधि अमानक पाये जाने के कारण क्रय-विक्रय एवं स्थानांतरण से प्रतिबंधित करने के उपरांत कीटनाशी अधिनियम 1968 की धारा 17 एवं 18 के तहत अमानक कीटनाशक औषधि के विक्रेता एवं निर्माता को सुनवाई का अवसर देते हुए स्पस्टीकरण चाहा गया।

जांच में कीटनाशक के नमूने अमानक पाए जाने पर उसका विक्रय प्रतिबंधित किया गया है। इस सिलसिले में आदेश जारी कर दिया गया है।उप संचालक पदेन पंजी अधिकारी, किसान कल्याण तथा कृषि विकास सीहोर ने बताया है कि विक्रेता एवं निर्माता द्वारा प्रस्तुत स्पष्टीकरण संतोषप्रद नहीं होने से एवं अमानक का अंतर अधिक होने से, गुण-दोष के आधार पर कीटनाशी अधिनियम 1968 की धारा 12 में प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए धारा 14 के तहत अमानक कीटनाशक औषधि के विक्रेता कल्याण सिंह आत्मज लक्ष्मीनारायण, प्रोपराइटर मैसर्स जय मां विन्धवासनी कृषि सेवा केन्द्र रेहटी विकास खण्ड बुधनी को पूर्व प्रदत्त कीटनाशी लाइसेंस को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया गया है। एवं मेसर्स नाडिया बायोटेक प्रायवेट लिमिटेड के द्वारा निर्मित एवं डी पी एस क्रॉप साईन्स प्रायवेट लिमिटेड द्वारा वितरित समस्त कीटनाशक औषधि को सीहोर जिले में तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाता है।