स्टाफ की कमी से जूझ रहा सागर का देवरी थाना
इस ख़बर को शेयर करें

देवरी/सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले की देवरी तहसील का नगर थाना देवरी जो कि शहर का मुख्य केन्द्र माना जाता है जिसमें अपराधियों पर शिकंजा कसा जाता है व किसी को परेशान या अन्य अपराध वाली समस्या पर न्याय देने का कार्य ही थाने में किया जाता है। देवरी नगर की शांति व अपराधों से सुरक्षा के लिये शासन द्वारा स्थापित थाना देवरी में कुल स्टाफ की पोस्टिंग शासन द्वारा स्वीकृत पद 51 है।

क्योंकि यह क्षेत्र का सबसे बड़ा थाना माना जाता है इसलिये इसमें कुल स्वीकृत स्टाफ 51 लोगों का है जिसमें 1 थाना प्रभारी, 6 उप निरीक्षक, 11 ए एस आई, 11 प्रधान आरक्षक, 24 आरक्षक व एक ड्राईवर की पोस्ट स्वीकृत की गई है मगर करीब पांच से दस बर्ष समय से देवरी थाना मात्र 29 लोगों के स्टाफ मात्र से चलाया जा रहा है क्योंकि इस थाने में इतने समय से पूरा स्वीकृत 51 का स्टाफ आज तक पूरा नहीं हो पाया है

जबकि वर्तमान में 29 पोस्टिंग में एक थाना प्रभारी कृपाल सिंह मार्को, तीन उपनिरीक्षक में टी एस धुर्वे, आर डी तेकाम, कुमारी बीणा विश्वकर्मा, 5 एएसआई पदस्थ हैं जिसमें से एक एसडीओपी ऑफिस में अटैच है, कुल बवर्तमान में मात्र 29 लोगों के स्टाफ से थाना चलाया जा रहा है।

जिसमें से अभी 22 लोगों की कमी अभी भी बनी हुई है जिसमें वर्तमान में एएसआई एक भी पदस्थ नहीं है जबकि स्वीकृत 8 है। उपनिरीक्षक 6 स्वीकृत है मगर 3 है, प्रधान आरक्षक पद स्वीकृत 11 है मगर मात्र 5 है, आरक्षक 24 स्वीकृत वर्तमान में 23 है व एक ड्राइवर की पोस्ट है जो अभी भी खाली है जबकि यह थाना क्षेत्र का बड़ा थाना भी है फिर भी स्टाफ की कमी से जूझ रहा है।

इस थाने में हर माह करीब 40 से 50 अपराध के मामले आते हैं व एक वर्ष में करीब 700 अपराधों के मामले आते हैं जिसमें करीब 100 गंभीर मामले आते हैं। शासन द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को हर माह हर थाने से स्टाफ की कमी की जानकारी रिपोर्ट भी भेजी जाती है मगर आज तक देवरी थाना स्टाफ की कमी से जूझ रहा है।

जिसके कारण कई राजनैतिक कार्यक्रम या अपराधों के मामले में पुलिस बल की कमी महसूस होती है मगर देवरी थाना करीब पांच वर्षों से पुलिस कप्तान से आस उम्मीद लगा के बैठा है कि कब देवरी थाने में पुलिसबल स्वीकृत आधार पर पूरा होगा। इसी आश में इंतजार किया जा रहा है।

पुलिस स्टाफ की सभी थानों में कमी है क्योंकि अभी नई भर्ती नहीं हुई है, जब भी नयी भर्ती होगी तो कमी पूरी हो जायेगी, ये सब प्रक्रिया सरकार की है उनपर निर्भर है, जब शासन भर्ती करेगा तो निश्चित ही सभी जगह स्टाफ की समस्या का निराकरण किया जा सकेगा: अतुल सिंह एसपी सागर