जनपद में अवैध रूप से संचालित अस्पतालों एवं पैथोलॉजी लैब को किया गया सील

बुलंदशहर@ जिलाधिकारी डॉ0 रोशन जैकब ने जनपद में अपंजीकृत चिकित्सा संस्थानों का औचक निरीक्षण के लिए उप जिलाधिकारियों के नेतृत्व में टीमें गठित कर अपंजीकृत चिकित्सा संस्थानों के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करायी गई। उप जिलाधिकारी सदर द्वारा जनता पैथोलॉजी लैब एवं सिटी हॉस्पिटल बीसा कॉलोनी का निरीक्षण करते हुए अनिमितता पाये जाने पर दोनों संस्थानों को सील कर दिया गया है। श्रीमती रीतू पुनिया अपर उप जिलाधिकारी द्वारा गुलावठी के डॉ0 चैतन्य देव हॉस्पिटल एण्ड मैटरनिटी सेन्टर करनपुरी एवं तेवतिया पैथोलॉजी लैब का निरीक्षण करते हुए अपंजीकृत पाये जाने पर सील करने की कार्यवाही की गई।

उप जिलाधिकारी खुर्जा द्वारा खुर्जा में सैनी पैथोलॉजी लैब एवं डॉ0 कमालुद्दीन का औचक निरीक्षण करते हुए इन दोनों संस्थानों को क्षेत्राधिकारी एवं एसीएमओ की उपस्थिति में सील कर दिया गया। निरीक्षण के अगले क्रम में उप जिलाधिकारी सिकन्द्राबाद द्वारा काका हॉस्पिटल में अनिमिततायें पाये जाने पर सील करने की कार्यवाही की गई। वहीं उप जिलाधिकारी शिकारपुर द्वारा पहासू में स्थित डॉ0 दीपक शाह, बांके बिहारी हॉस्पिटल एवं वेणु नेत्र संस्थान जटपुरा का रजिस्ट्रेशन न पाये जाने पर सील कर दिया गया।

उप जिलाधिकारी डिबाई द्वारा चिकित्सा संस्थानों का औचक निरीक्षण करते हुए डिबाई के सावित्री देवी आई हॉस्पिटल एवं नीतू क्लीनिक एवं मैटरनिटी होम के अन्दर मैडिकल स्टोर पर अनिमिततायें पाये जाने पर सील करने की कार्यवाही की गई।

उप जिलाधिकारी स्याना द्वारा बाराहबस्ती हॉस्पिटल बुगरासी का औचक निरीक्षण करते हुए सील कर संचालक के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये गये। उप जिलाधिकारी अनूपशहर द्वारा तहसील के अन्तर्गत कई चिकित्सा संस्थानों का औचक निरीक्षण करते हुए नीरज क्लीनिक अनूपशहर एवं यश पैथोलॉजी लैब अनूपशहर में गंभीर कमियां पाये जाने पर सील करने की कार्यवाही की गई।

जनपद भर में चिकित्सा संस्थानों एवं झोला छाप एवं अपंजीकृत डॉक्टरों के विरूद्ध की गई कार्यवाही से हडकंप मच गया। औचक निरीक्षण के समय कई स्थानों पर पैथोलॉजी लैब एवं चिकित्सा संस्थान के संचालक अस्पतालों को बन्द कर भागने में सफल रहे।

जिलाधिकारी डॉ0 रोशन जैकब ने गैरकानूनी रूप से चिकित्सा सेवायें एवं पैथोलॉजी लैब एवं नर्सिंग होम संचालित किये जाने वालों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि वह जनता के जीवन के साथ खिलवाड़ न करंे अन्यथा ऐसे लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करते हुए कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि समय-समय पर इस प्रकार के औचक निरीक्षण जनपद में उनके द्वारा कराते हुए ऐसे चिकित्सकों एवं अस्पताल संचालकों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।