सेबी ने नेशनल स्टाक एक्सचेंज पर छह महीने की पाबंदी लगा दी

इस ख़बर को शेयर करें:

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने नेशनल स्टाक एक्सचेंज पर छह महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया है, यानि एक्सचेंज अगले 6 महीने तक कोई आईपीओ जारी नहीं कर सकेगा। सेबी ने एनएससी से कुछ सर्वर को विशेष लाभ पहुंचाने के मामले में 625 करोड़ रुपये लौटाने का भी आदेश दिया है।

पूंजी बाजार नियामक यानि सेबी ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को अगले छह महीने तक कोई भी नया डेरिवेटिव उत्पाद पेश करने से रोक दिया। पूंजी बाजार नियामक ने नेशनल स्टाक एक्सचेंज से एक जगह कुछ सर्वर को विशेष लाभ पहुंचाने के मामले में ब्याज सहित 625 करोड़ रुपये लौटाने का आदेश दिया है ।

इसके साथ ही सेबी ने एनएसई (NSE) के पूर्व सीईओ रवि नारायण और चित्रा रामकृष्ण को पैसा जमा करने के लिए निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही उन पर 5 साल तक किसी भी लिस्टेड कंपनी के साथ जुड़ने पर बैन लगा दिया गया है।

सेबी को शुरुआती जांच में एक्सचेंजों की तरफ से चुनिंदा ब्रोकर्स को प्रेफरेंशियल एक्सेस दिए जाने जैसी गंभीर चूक होने का पता चला। सेबी ने जांच में एनएसई और रिलेटेड पार्टीज के फॉर्मर और मौजूदा टॉप एग्जिक्यूटिव्स की तरफ से भी चूक होने की बात की जानकारी मिली है। रेगुलेटर ने जांच के तहत कई लोगों के स्टेटमेंट भी रिकॉर्ड किए हैं।