वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण कोर्ट अवमानना मामले में दोषी पाए गए, सजा पर 20 अगस्त को SC में सुनवाई

नई दिल्लीः कोर्ट की अवमानना मामले में सीनियर वकील प्रशांत भूषण पर शिकंजा कसता नजर आ रहा है. अदालत की अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील को दोषी करार दिया है. जिसके बाद अब उनकी सजा पर 20 अगस्त को सुनवाई होगी. सुप्रीम कोर्ट ने वकील प्रशांत भूषण को भारत के मुख्य न्यायाधीश (Chief Justice of India) और उनके पहले के सीजेआई को लेकर कथित रूप से दो अपमानजनक ट्वीट करने को लेकर कोर्ट द्वारा स्वत: शुरू की गई अवमानना कार्यवाही में आज ने फैसला सुनाया है.

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की पीठ ने मामले में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को दोषी करार दिया है, जिसके बाद अब 20 अगस्त को उनकी सजा पर सुनवाई होगी. बता दें इससे पहले 5 अगस्त को मामले पर सुनवाई हुई थी. जिसमें कहा गया था कि मामले में बाद में फैसला सुनाया जाएगा. वहीं प्रशांत भूषण ने अपने उन दोनों ट्वीट्स का बचाव किया था, जिसे लेकर उन्हें कोर्ट ने दोषी करार दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने इसे न्यायालय की अवमानना करार दिया है.

अपने बचाव में प्रशांत भूषण का कहना था कि यह ट्वीट उन्होंने ये ट्वीट न्यायाधीशों के व्यक्तिगत आचरण को लेकर किए थे. यह ट्वीट न्याय प्रशासन को लेकर नहीं किए गए. न्यायायल ने 22 जुलाई को इस मामले में प्रभांत भूषण को कारण बताओ नोटिस जारी किया था.