शहला मसूद मर्डर केस में 4 को उम्रकैद की सजा,1आरोपी बरी

इंदौर@ भोपाल के हाई-प्रोफाइल शेहला मसूद हत्याकांड में CBI की इंदौर स्थित स्पेशल कोर्ट ने शनिवार को फैसला सुना दिया। दोषी जाहिदा परवेज, सबा फारुकी, क्रिमिनल शाकिब डेंजर और शूटर ताबिश को उम्रकैद की सजा सुनाई गई। एक अन्य आरोपी इरफान को जुर्म कबूलने करने और जांच में मदद करने के लिए बरी कर दिया गया। 6 साल चले इस केस में 137 तारीखों पर सुनवाई हुई। इस दौरान CBI ने 83 गवाह पेश किए थे। शेहला RTI एक्टिविस्ट थीं। शहला मसूद की उनके भोपाल स्थित घर के बाहर 16 अगस्त, 2011 को कथित साजिश के तहत गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। शेहला घर से ऑफिस जाने के लिए निकली थीं। जैसे ही वे कार में बैठीं, उन्हें गोली मार दी गई। शहला मसूद हत्याकांड में फैसला सुनाते हुए CBI की कोर्ट ने शनिवार को चार आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है, जबकि एक आरोपी को बरी कर दिया है। आरटीआई कार्यकर्ता शहला की 5 वर्ष पूर्व हत्या कर दी गई थी।

कोर्ट ने जाहिदा परवेज, सबा फारूकी, शाकीब डेंजर और ताबिश को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है, जबकि एक अन्य आरोपी इरफान को बरी कर दिया गया।