शिवसेना ने की प्रदेश के बेरोजगारों के लिए मासिक भत्ता की मांग
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। मध्य प्रदेश के शिवसेना प्रदेश प्रमुख ठाडे़श्वर महावर जी के निर्देश अनुसार पूरे प्रदेश में बेरोजगारों को 10000/- का मासिक भत्ता मिले ऐसी मांग पूरे प्रदेश में शिव सैनिकों द्वारा की जा रही है उसी तारतम्य में जबलपुर शिवसेना ने मध्य प्रदेश प्रवक्ता कन्हैया तिवारी के नेतृत्व में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम एक ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर शाहिद खान को सौंपा जिसमें प्रदेश प्रवक्ता कन्हैया तिवारी ने मांग की कि प्रदेश में कोरोनावायरस के चलते जो युवा बेरोजगार हुए हैं। 

शिवसेना संगठन वर्तमान में प्रदेश में कोरोना महामारी के चलते जो युवा एवं छोटे व्यापारी काम धंधा करते थे एवं उनके व्यापार उससे प्रभावित होकर बंद पड़ गए हैं वे बेरोजगार हो गए हैं ऐसे पीड़ित छोटे व्यापारी, बेरोजगार युवा, पत्रकार बंधुओं को जो अपना जीवन संकट में डाल कर हमें महामारी से सावधानी हेतु क्षेत्र के समाचार प्रसारित करते रहते हैं उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से निम्नलिखित मांगों के तहत लाभ पहुंचाया जाए जिससे कि वे अपना जीवन यापन कर सकें क्योंकि बहुत से परिवार एक ऐसे ही व्यक्ति पर निर्भर है जो बेरोजगार हो चुका है अतः हमारी निम्नलिखित मांगों को गंभीरता से लेते हुए तत्काल पूरी की जाए। 

  • बेरोजगार युवाओं को जो होटल टेंट एवं अन्य ऐसे व्यापारियों से जुड़े थे या व्यापार कर रहे थे जो अब बंद हैं उन्हें ₹10000 का प्रतिमाह का बेरोजगारी भत्ता दिया जाए जिससे भी अपना जीवन यापन कर सकें ।
  • छोटे व्यापारी बंधुओं को भी संबल योजना का जो लाभ दिया गया था वह पर्याप्त नहीं है अतः उन्हें भी पुनः ₹10000 का संबल योजना का लाभ दिया जाए ।
  • कोरोना महामारी के संकट काल में जहां हमारे पत्रकार एवं मीडिया बंधुओं को जिन्होंने जीवन संकट में डाल कर हम तक समाचार पहुंचाएं उन्हें भी ₹10000 का प्रतिमाह भत्ता दिया जाना निश्चित किया जाए।
  • मध्यमवर्ग व्यापारियों उद्योगपतियों, मूर्ति कारों,ठेले वाले , स्कूल आटो/वैन चालकों, साउंड लाइट एवं बैंड वालों को छोटे कारीगरों एवं अन्य पीडि़त गरीब एवं मध्यम वर्गीय को जिनके उद्योग व्यवसाय/ रोजगार ठप्प पड़े हैं उन्हें भी ₹10000 का भत्ता दिया जाए जिससे वे आर्थिक रूप से असक्षमता के चलते इसका लाभ लेकर अपने परिवार का पालन-पोषण कर सकें।

लोग सामूहिक आत्महत्या जैसा कदम उठा रहे हैं ऐसे वातावरण में सरकार को आगे आकर बेरोजगार युवाओं आवश्यक मंदो को ₹10000 का मासिक भत्ता जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती दिया जाना निश्चित किया जाए ।

ऐसी मांग शिवसेना प्रदेश प्रवक्ता कन्हैया तिवारी ने करते हुए कहा इस सरकार कोरोना महामारी में पूर्णतः विफल हो चुकी है कोरोना के मरीज दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं अस्पतालों की कमी हो रही है, शासकीय अस्पतालों में समुचित व्यवस्था नहीं है, ऑक्सीजन गैस सिलेंडर का अभाव हो जाता है, चिकित्सक जनप्रतिनिधियों की बात सुनते नहीं है ,लोग बेरोजगार हो रहे हैं ,आर्थिक संकट पैदा हो रहा है व्यवसाय बंद हो रहे हैं ऐसी परिस्थिति में सरकार को आर्थिक पैकेज परिवारों के लिए घोषित किया जाना चाहिए।

ज्ञापन सौंपने वालों में

कन्हैया तिवारी प्रदेश प्रवक्ता शिवसेना, शैलेंद्र बारी, रवि बैन, रविंद्र चड्ढा, प्रमोद तिवारी, मनोज पासवान, गजानन गुप्ता, अंकित यादव, एडवोकेट चारू अरोरा, हिमांशु त्रिपाठी इत्यादि शिवसैनिक उपस्थित थे मांग पूरी ना होने की स्थिति में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई ।

उपरोक्त मांगे जो शिवसेना द्वारा कोरोनावायरस वैश्विक संकट काल में आम जनता बेरोजगारी, छोटे व्यापारी बंधु का उद्योग धंधा ठप्प एवं अन्य समस्याओं को ध्यान में रखते हुए जहां जनता स्वास्थ्य व्यवस्था एवं आर्थिक व्यवस्था को लेकर चिंतित है उन्हें यह आर्थिक मदद कर प्रदेश सरकार राहत प्रदान करें।