लालगंज मे सम्राट अशोक की जयंती पर निकाला गया भव्य शोभायात्रा

लालगंज ( प्रतापगढ़) । सम्राट अशोक के महान व्यक्तित्व के धनी थे , ये भारतीय मौर्य राजवंश के महान सम्राट थे। सम्राट अशोक का पूरा नाम देवानांप्रिय अशोक मौर्य (राजा प्रियदर्शी देवताओं का प्रिय) था। उनका राजकाल ईसा पूर्व २६९ से २३२ प्राचीन भारत में था। मौर्य राजवंश के चक्रवर्ती सम्राट अशोक ने अखंड भारत पर राज्य किया है तथा उनका मौर्य साम्राज्य उत्तर में हिन्दुकुश की श्रेणियों से लेकर दक्षिण में गोदावरी नदी के दक्षिण तथा मैसूर तक तथा पूर्व में बांग्लादेश से पश्चिम में अफ़ग़ानिस्तान, ईरान तक पहुँच गया था।

सम्राट अशोक का साम्राज्य आज का संपूर्ण भारत, पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, म्यान्मार के अधिकांश भूभाग पर था, यह विशाल साम्राज्य उस समय तक से आज तक का सबसे बड़ा भारतीय साम्राज्य रहा है। चक्रवर्ती सम्राट अशोक विश्व के सभी महान एवं शक्तिशाली सम्राटों एवं राजाओं की पंक्तियों में हमेशा शिर्ष स्थान पर ही रहे हैं। सम्राट अशोक ही भारत के सबसे शक्तिशाली एवं महान सम्राट है। सम्राट अशोक को ‘चक्रवर्ती सम्राट अशोक’ कहा जाता है |

प्रसिद्ध एवं शक्तिशाली भारतीय मौर्य राजवंश के महान सम्राट थे उक्त उद्गार लालगंज तहसील क्षेत्र में आयोजित सम्राट अशोक की जयंती पर शोभायात्रा के दौरान बतौर विशिष्ट अतिथि रहे प्रमोद कुमार मौर्य ने कहीं इसके पश्चात अन्य कई विशिष्ट अतिथियों ने भी अपने-अपने विचार प्रस्तुत कर सम्राट अशोक के व्यक्तित्व के बारे में लोगों को बताया | इस दौरान भारी संख्या में क्षेत्र के बहुत से प्रबुद्ध एवं समाजसेवी मौजूद रहे |