मरही माता मंदिर से चांदी का छत्र चोरी,मूर्ति खंडित होने से लोगो में आक्रोश

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर@ घमापुर थाना के गोपाल होटल के समीप मरही माता मंदिर में एक चोर ने चांदी का मुकुट चुराते हुए प्रतिमा का एक हाथ तोड़ दिया। सीसीटीवी में कैद हुई घटना के बाद पुलिस ने संघनता से जांच पड़ताल करते हुए चोर को गिरफ्तार कर लिया। इधर इस घटना के बाद क्षेत्र में तनाव का माहौल है। मरही माता मंदिर में इससे पहले भी एक बार मृर्ति खंडित हुई थी। मंदिर में बार-बार चोरी होने और मूर्ति तोड़ने को लेकर स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश है। पुलिस की समझाइश के बाद मामला शांत हुआ।

पुलिस ने बताया कि सिद्धबाबा क्षेत्र के मरही माता मंदिर में बीती रात चोर ने गेट में लगा ताला तोड़कर मूर्ति पर चढे चांदी के 150 ग्राम वजनी छत्र को चोरी कर ले गए गया। चोरी की सूचना मिलने पर पुलिस ने जांच करने हुए पवन नाम के एक लड़के को फुटेज के आधार पर पकड़ा है, जिससे पूछताछ चल रही है। मंदिर के समीप रहने वाले प्रभुदास सोनवाह ने बताया कि मरही माता का मंदिर सैकड़ों वर्ष पुराना है। मंदिर में सुबह से शाम तक सैकड़ों लोग माता के दर्शन करने आत हैं। चोर ने मंदिर में रखी दानपेटी व आभूषण चोरी करने के लिए गेट में लगा तोड़ा। चोर मंदिर से सिर्फ चांदी का छत्र ही ले गया, लेकिन उसने मूर्ति के दोनों हाथ तोड़ दिए हैं।

पुलिस की प्राथमिक पूछताछ में चोर ने बताया कि चोरी करते हुए समय धोखे से मूर्ति के हाथ टूट गए थे। प्रतिमा के हाथ टूटने के बाद मंदिर से निकल गया था, दानपेटी को हाथ भी नहीं लगाया, प्रभुदास सोनवाह ने बताया कि करीब 5 साल पहले एक शराबी ने मंदिर में स्थापित प्रतिष्ठित मूर्ति को तोड़ दिया था। क्षेत्र में हुए भारी हंगामा के बाद पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने मंदिर में मूर्ति की स्थापना कराई थी।