एस.आई.आर.डी. को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण केन्द्र बनाने कार्य योजना तैयार की जाये – श्री भार्गव
जबलपुर | प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने अधारताल स्थित महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण केन्द्र का स्वरूप देने के लिए इसके पुराने भवनों का जीर्णोद्धार तथा जर्जर भवनों के स्थान पर नये सर्वसुविधायुक्त बहुमंजिला भवनों के निर्माण के निर्देश दिये हैं। श्री भार्गव आज यहां राज्य ग्रामीण विकास संस्थान की शासी निकाय की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान के नाम परिवर्तन के बैठक में रखे गये प्रस्ताव को मंजूरी भी प्रदान की। नाम परिवर्तन के बाद यह संस्थान महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज संस्थान के नाम से जाना जायेगा। 
    पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने बैठक में महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए यहां प्रशिक्षण की गतिविधियों के अलावा नवाचार एवं शोध कार्य प्रारंभ करने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि संस्थान के व्यवस्थित विकास की तथा नये और सर्वसुविधायुक्त भवनों के निर्माण की कार्ययोजना बनाने के लिए सलाहकार की नियुक्ति भी की जानी चाहिए। 
    श्री भार्गव ने महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान के करमेता में बन रहे भाग-दो के रूके हुए कार्य को प्रारंभ करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये।  उन्होंने कहा कि इसके लिए धन की कमी आड़े नहीं आने दी जायेगी।  श्री भार्गव ने संस्थान के करमेता परिसर को भी आकर्षक स्वरूप प्रदान करने के निर्देश देते हुए कहा कि निर्माण कार्य प्रारंभ करने में आने वाले सभी रूकावटों को शीघ्र दूर कर लिया जाये। 
    श्री भार्गव ने बैठक में निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण देने के कार्य में गति लाने के निर्देश भी दिये।  उन्होंने कहा कि कैम्पस एवं ऑफ कैम्पस प्रशिक्षण के लिए यदि जरूरी हो तो गैर शासकीय संगठनों को भी नये सिरे से सूचीबद्ध किया जाना चाहिए।  पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने संस्थान द्वारा आयोजित किये जाने वाले प्रशिक्षणों के बाद इम्पेक्ट सर्वे की बात भी कही।  उन्होंने ग्रामीण विकास से जुड़ी योजनाओं के संकलन को प्रकाशित करने की जरूरत पर भी बल दिया और संस्थान द्वारा शासकीय डायरी की तर्ज पर निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के लिए प्रतिवर्ष अलग से डायरी के प्रकाशन के निर्देश दिये। श्री भार्गव ने राज्य ग्रामीण विकास संस्थान के भवनों के संधारण के लिए प्रतिनियुक्ति अथवा संविदा आधार पर अभियंताओं की नियुक्ति के प्रस्ताव का भी अनुमोदन बैठक में किया।
    महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण संस्थान की शासी निकाय की इस बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनोरमा पटैल, संभागायुक्त गुलशन बामरा, सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास ब्राजेश कुमार, संचालक ग्रामीण रोजगार एवं विकास आयुक्त विभाष ठाकुर तथा शासी निकाय के अन्य सभी सदस्य मौजूद थे। 
    पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री भार्गव ने शासी निकाय की बैठक के पहले महात्मा गांधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान के परिसर का भ्रमण कर प्रशिक्षण भवन, छात्रावास भवन तथा आडिटोरियम का निरीक्षण किया। श्री भार्गव ने इस अवसर पर नये स्वरूप में तैयार संस्थान के सभाकक्ष का लोकार्पण भी किया।