समाजसेवी व बीडीसी रामपियारे मौर्य का अचानक निधन

समाज में मिलनसार ब्यक्तित्व के धनी थे समाजसेवी बीडीसी रामपियारे मौर्य – मो. हफीज प्रमुख पति लक्ष्मणपुर

प्रतापगढ़ / लक्ष्मणपुर @ समाज मे अपनी एक अलग पहचान रखने वाले समाजसेवी बीडीसी व रामलीला के मंचन मे हर तरह का किरदार निभाने वाले रामपियारे मौर्य 55 का अचानक निधन हो जाने से गांव तथा आस- पास के क्षेत्र मे भी गमगीन माहौल है |

लक्ष्मणपुर विकासखन्ड के हन्डौर ग्रामसभा के रहने वाले रामपियारे मौर्य का बचपन बड़ी ही संधर्षपूर्ण तथा सादगीपूर्ण रहा , किन्तु बचपन से ही इलेक्ट्रानिक तथा सभी विषयों पर पकड़ रखने वाले थे , पढ़ाई मे अव्वल रहने के कारण इन्होने पंजाब, पानीपत, हरियाणा , दिल्ली आदि शहरों मे के कई बड़ी कम्पनियों में नौकरी भी किया , किन्तु बचपन से ही समाजसेवा से जुड़े रहने के कारण इन्हे परदेश रास न आया और अपने गांव आकर स्वंय जीविकोेपार्जन हेतु बिजनेस करते हुए समाज सेवा से जुड़े रहे | चाहे गांव मे किसी गरीब असहाय शादी हो या आस – पास के किसी गांव में लड़की की शादी हो , कोई समाजिक कार्यक्रम अथवा रामलीला का मंच हर जगह अपने कार्य से लोगों को खुश रखने वाले समाजसेवी बीडीसी रामपियारे मौर्य के निधन की खबर जैसे ही क्षेत्र मे फैली सभी हतप्रभ रह गये |

समाजसेवी प्रवृत्ति के होने के कारण अपने लिए घर तक नही बनवा पाए थे मिट्टी का घर होने के कारण कई वर्ष पूर्व ही बारिस की भेंट चढ़ गया था और तब से ही भाई के घर मे रह रहता है पूरा परिवार | आज सुबह गेहूं का खेत काटते समय अचानक हृदयाघात ( हार्टअटैक ) होने के कारण इनका निधन हो गया | इनके दो बेटे व एक बेटी है , एक बेटे की शादी हो चुकी है व एक बेटे व बेटी की शादी अभी नही हुई है | सुबह से ही इनके अन्तिम दीदार के लिए लोगों का ताता लगा हुआ है , कल होगा अंन्तिम संस्कार |

सुबह निधन की जानकारी होने पर ग्राम प्रधान मनोज सिंह , समाजसेवी तूफान सिंह , लक्ष्मणपुर विकासखन्ड के प्रमुख पति मो. हफीज ‘ फिज्जू ‘ , समाजसेवी फौजदार खां , मो. जावेद बीडीसी , वरिष्ठ समाजसेवी लालबहादुर दुबे , राजकुमार दुबे एडवो. , अरविन्द तिवारी एडवो. , बिन्दू त्रिपाठी , सुरेन्द्र मौर्य , रवि मौर्य , डॉ. प्रदीप तिवारी , लालजी दुबे , लक्ष्मीकान्त दुबे ‘ फौजी ‘ , रंजन रजक , मो. कुल्लुर , पं. शारदा प्रसाद मिश्र सहित सैकड़ो लोगों का तांता लगा रहा |

प्रमुख पति मो. हफीज ने कहा कि ‘ स्वच्छ एंव निर्छल छवि के साथ खुशदिल दिमाग के मिलनसार ब्यक्तित्व के धनी थे समाजसेवी बीडीसी रामपियारे मौर्य | इनके देहावसान से समाज मे अपूर्णीय क्षति हुई है किन्तु यह तो प्रकृति का नियम है इसे झुंठलाया नही जा सकता है | हमारी तरफ से मृतक परिवार को जो भी जरूरी सहयोग होगा वह हमेशा करेंगें |