फसल काटने के विवाद में पुत्र ने पिता को मौत के घाट उतारा

जबलपुर। बेलखेड़ा के झुर्रई पिपरिया गांव में पिता-पुत्र के मामूली विवाद ने विकराल रूप धारण कर लिया। देखते ही देखते पुत्र ने पिता को बेरहमी से पीटते हुए हंसिया से उसकी गर्दन काट दी और खेत में लाश छोड़कर वहां से फरार हो गया। ग्रामीणों ने जब खेत में वृद्ध की लाश पड़ी देखी तो उन्होंने तत्काल परिजनों और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए आरोपी पुत्र के खिलाफ 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

थाना प्रभारी राकेश पटेल ने बताया कि पिपरिया निवासी 60 वर्षीय शंकर लाल चौधरी गुरूवार शाम गांव में स्थित अपने खेत में चना की कटाई करवा रहा था, तभी वहां उसका पुत्र कमलेश पहुंचा और अपना हक बताते हुए खुद कटाई कराने की बात कहने लगा। इस बात को लेकर पिता-पुत्र में तू-तू-मैं-मैं चालू हो गई। दोनों के बीच गाली-गालौज सुनकर आसपास के खेतों में काम कर रहे लोग भी एकत्र हो गए। तभी विवाद बढ़ने पर कमलेश ने अपने पिता शंकर को लाठी से पीटते हुए उसके गले पर हंसिया से वार कर दिया। जिससे मौके पर ही शंकर की मौत हो गई।

पीट पीटकर की गई रामसिया की हत्या
घर के बाहर ताला और कमरे में लाश मिलने के मामले में पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या का प्रकरण दर्ज कर अज्ञात आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। 21 फरवरी को सिविल लाइन पुलिस को लोको तलैया स्थित मकान में 55 वर्षीय रामसिया पटेल की लाश मिली थी, जिसकी जांच चल रही थी। पुलिस ने बताया कि 20 फरवरी की रात रामसिया पटेल घर मे अकेला था। रामसिया का बेटा रिश्तेदारी में पाटन गया हुआ था और पत्नी शशि बाई सिटी अस्पताल नौकरी पर गई हुई थी। अगले दिन सुबह 11 बजे अस्पताल से लौटी शशि ने देखा कि घर के बाहर ताला लगा हुआ है। काफी इंतजार करने के बाद भी जब उसके पति का कोई पता नहीं चला तो उसने पड़ोस में रहने वाले अभिषेक कनौजिया की मदद से ताला तोड़ा तो पति की लाश कमरे में पड़ी हुई थी। प्रारंभिक जांच में मृतक के कान,सिर, पर चोट के निशान पाए गए थे। पुलिस ने अंधे कत्ल के मामले में पड़ताल शुरु कर दी है।