पुत्रों ने पिता की हत्या कर शव जंगल में फेंका, आरोपित गिरफ्तार

इस ख़बर को शेयर करें:

अनूपपुर। कोतवाली थाना से 8 किलोमीटर दूर ग्राम सेंदुरी में पुत्रों द्वारा 2 नवम्बर को दर्ज कराई गई गुम पिता की जांच पड़ताल में पुलिस ने शक के आधार पर हत्या के मामले का खुलासा बुधवार को किया है। जिसमें हत्यारा और कोई नहीं बल्कि शिकायतकर्ता पुत्र ही हत्यारा निकले।

पुलिस ने पुत्रों की निशानदेही गांव से 2 किलोमीटर दूर डगनियाखार के जंगल में बरमासी झाडिय़ों के पीछे बोरी में बंद शव को बरामद किया है, जहां शव पूरी तरह गलकर क्षत विक्षप्त हो गया है। पुलिस शव को बाहर निकाल आगे की कार्रवाई में जुटी है। आरोपित भाइयो को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया हैं।

थाना प्रभारी नरेन्द्र पॉल ने बताया कि एक सप्ताह पूर्व 27 अक्टूबर की रात को 45 वर्षीय जयराम उर्फ लरू राठौर पुत्र जेठू राठौर शराब के नशे में अपने परिजनों से विवाद कर रहा था, तभी बड़े पुत्र 25 वर्षीय गुलाब उर्फ लखन राछौर ने गुस्से में आकर पिता के सिर पर डंडा से प्रहार कर दिया।

जिसकी चोट में पिता घर की परछी में गिर गया और गिरने से सिर में लगी चोट के कारण तत्काल उसकी मौत हो गई। जिसे देखकर परिजनों के होश उड़ गए। पुत्रों ने पिता के शव को छिपाने तथा पुलिस से बचने शव को ठिकाने लगाने की उपाय सोची। दोनों पुत्रों ने पिता के शव के पैर को रबड़ से बांधकर बोरे में बंद कर दिया।

फिर दोनों भाईयों ने मिलकर गांव से दो किलोमीटर दूर डगनियाखार जंगल में बरमासिया की झाडिय़ों के बीच बोरी को फेंक आया। यहीं नहीं ग्रामीणों को घटना की शक न हो चार दिन बाद 2 नवम्बर को अपने पिता के गुमशदुगी सम्बंधित शिकायत कोतवाली थाने में भी दर्ज कराई।

थाना प्रभारी ने बताया कि अभी तक पुलिस गुम इंसान समझकर चल रही थी, लेकिन जांच के दौरान जब पुलिस गांव पहुंची और घटना के सम्बंध में जानकारी लेना चाहा तो बयानों में शक की गुजाई बनी। इसके बाद आसपास के ग्रामीणों से पूछताछ हुआ, तो ग्रामीणों ने कहा वह शराब का आदि था, विवाद भी करता था, लेकिन कहीं घर छोड़कर नहीं जा सकता।

इसके बाद पुलिस को परिजनों पर शक हुआ, जहां 4 नवम्बर को पुलिस ने दोनों पुत्रों को थाने बुलाया। पूछताछ की, शुरूआती समय में पुत्र भटकाते रहे, लेकिन सख्ती से पूछताछ में दोनों पुत्रों ने पिता की हत्या और उसके शव को छिपाने सम्बंधित सारी जानकारी पुलिस बता दी। जिसके बाद पुलिस टीम लेकर गांव के जंगल में पहुंची, जहां पुत्रों की निशानदेही पर बोरी बंधी शव को बरामद किया।