शौचालयों के निर्माण में महत्वपूर्ण तकनीकी व गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाये-जिलाधिकारी

अमरोहा@ जिलाधिकारी श्री नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में आज स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अर्न्तगत विकास भवन सभागार में बैठक आयोजित की गई और स्वच्छता की शपथ दिलाई गई। बैठक में उन्होने बताया कि स्वच्छता को जागरूकता लाने के लिए तकनीकी समिति का गठन किया गया है। उन्होने कहा कि बनाये जा रहें शौचालय में उचित प्रकार की तकनीकी का प्रयोग किया जाये, तकनीकी का अभिप्राय है कि मिट्टी, भूगर्भ जल तथा धरातल पर उपलब्ध जन प्रदूषित न हो तथा उन पर मक्खियों व जानवरों की पहुँच न हो साथ ही किसी प्रकार की बदवू आदि का आभास नही हो।
जिलाधिकारी महोदय ने शैलेन्द्र सिंह, पुष्पेन्द्र सिंह, पंकज कुमार, बलवीर, सुनील कुमार, दिनेश चन्द्र शर्मा, प्रमोद कुमार, आर0के0गोयल, बलराम सिंह और देवेन्द्र सिंह आदि सहित अन्य अनुपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों के एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिये है इनमें सर्वाधिक कर्मचारी जल निगम के हैं।

उन्होने कहा कि तकनीकी समिति शौचालयों का सूक्ष्म निरीक्षण करेगी और मौके पर जाकर सचिव, ए0डी0ओ0 और बी0डी0ओ0 द्वारा प्रतिदिन की जाने वाली कार्यों की जानकारी, फोटो व्हाट्एप द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को प्रस्तुत करें। और शौचालयों के निर्माण में महत्वपूर्ण मकनीकी व गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाये।

जिलाधिकारी ने कहा कि जोया और अमरोहा सितम्बर 2017 तक ओ0डी0एफ0 हो सकता है इसलिए उन ग्राम पंचायतों में लगाये गये अधिकारियों, कर्मचारियों को पूर्ण मेहनत व लगन से कार्य करने की आवश्यकता है। सभी जिला स्तरीय अधिकारी की जिस ग्रामों की जिम्मेदारी दी गई है वह अपने दायित्वों का निर्वाहन गुणवत्ता पूर्वक करेगें।

उन्होने कहा कि बी0डी0ओ0, सचिव, ग्राम सेवक, ए0डी0ओ0 का अपना मोबइल बन्द न करें और हमेशा ऑन रखें और प्रतिदिन की गतिविधियों की जानकारी जिला पंचायत राज अधिकारी को दे। डी0ई0ए0आई0 सभी जिला स्तरीय अधिकारी, मन, जोश से लगना है। अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों को अपने घर जैसे कार्य करेगें और ऐसा काम करेगें कि जनपद अमरोहा सितम्बर 2017 तक पूर्ण रूप से ओ0डी0एफ0 हो जाये, समय कम है और का ज्यादा अतः समय को लक्ष्य लेकर कार्य करना है। उन्होने कहा कि खुलें में शौच मुक्त करने हेतु केवल व्यक्तिगत शौचालय ही नही बल्कि समुदाय के व्यवहार में भी परिवर्तन किया जाये।

उन्होने कहा कि इस अभियान के माध्यम से भारत सरकार वेस्ट मैनेजमेंट तकनीकों को बढ़ाने के द्वारा स्वच्छता की समस्याओं का समाधान करेगी। स्वच्छ भारत आंदोलन पूरी तरह से देश की आर्थिक ताकत के साथ जुड़ा हुआ है। स्वच्छ भारत मिशन शुरू करने के पीछे मूल लक्ष्य, देश भर में शौचालय की सुविधा देना, साथ ही दैनिक दिनचर्या में लोगों के सभी अस्वस्थ आदतो को समाप्त करना है।

उन्होने कहा कि भारत में खुले में शौच करना बहुत बड़ी समस्या है, इससे निजात पाने के लिये स्वेच्छाग्राही होना पडे़गा। उन्होने कहा कि हमें अपनी सोच को बदलने के साथ-साथ, अपने शरीर में जुनून उत्पन्न करना होगा। उन्होने कहा कि गाँवों में निवास करने वाले लोगों में उनके विचार और व्यवहार में परिवर्तन करना होगा। उन्होने कहा कि आने वाले माह में जनपद अमरोहा को भी क्लीन व खुले में शौचमुक्त करना है। इसके लिये आपके शरीर में चिंगारी दिखाई देनी चाहिये उन्होने कहा कि जब तक आप लोग पूरे मनोयोग से कार्य नही करेंगे, तब तक सफलता नही मिलेगी।

गोष्ठी में मुख्य विकास अधिकारी श्री चन्द्रपाल सिंह, जिला विकास अधिकारी श्री मदन वर्मा, जिला विद्यालय निरीक्षक, डी0एस0ओ0 जिला पंचायत राज अधिकारी, ए0डी0ओ0पंचायत, जिला सम्वयक स्वच्छ भारत मिशन श्री सुनील कुमार सिंह, जिला सलाहकार स्वच्छ भारत मिशन श्री राज़िव खान और ग्राम प्रधानों सहित अन्य लोग उपस्थित थे।