प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर योजना के तहत, जिले के 6 हजार 264 हितग्राहियों के प्रकरण स्वीकृत

जबलपुर। प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि (पीएम-स्वनिधि) योजना के अंतर्गत अब तक बैंकों को ऋण हेतु 18 हजार 161 प्रकरण प्रेषित किये जा चुके हैं। इनमें से 6 हजार 264 आवेदन स्वीकृत हुए और 2 हजार 180 प्रकरणों में हितग्राहियों को 10-10 हजार रुपए की कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराई जा चुकी है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने अगले तीन दिन के भीतर सभी स्वीकृत प्रकरणों के हितग्राहियों को कार्यशील पूंजी मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

प्रधानमंत्री योजना के तहत मप्र शासन द्वारा मुख्यमंत्री शहरी असंगठित कामगार एकीकृत पोर्टल तैयार किया गया है तथा योजना का क्रियान्वयन माह जून 2020 से प्रारंभ किया गया है। जिसमें शहरी पथ व्यवसायियों का ऑन-लाईन पंजीयन किया गया है।

योजना के तहत पात्र हितग्राहियों को जिले की नगरीय निकायों द्वारा पहचान पत्र (स्ट्रीट वेटिंग सर्टीफिकेट) जारी किया गया है। पथ व्यवसासियों को आत्मनिर्भर पैकेज के तहत व्यवसाय हेतु कार्यशील पूंजी के रूप में 10,000 रुपए ऋण के रुप में बैंकों के माध्यम से प्रदान किये जाने का प्रावधान है।

जिसे उन्हें 1 वर्ष की अवधि में मासिक किश्तों में लौटाना होगा। इस पर भारत सरकार द्वारा 7 प्रतिशत ब्याज अनुदान तथा शेष अतिरिक्त ब्याज अनुदान मप्र शासन द्वारा वहन किया जायेगा। राज्य शासन के नगरीय विकास एवं आवास विभाग भोपाल द्वारा जबलपुर जिले की नगरीय निकायों हेतु 30845 हितग्राहियों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

प्राप्त लक्ष्य को नगरीय निकायवार अधीनस्थ बैंक शाखावार आवंटित कर लक्ष्य पूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। योजना के तहत बैंकों को आनलाईन पत्र प्रेषित किये जा रहे हैं। वर्तमान तक बैंकों को ऋण हेतु 18,161 प्रकरण प्रेषित किये गये जिनमें 6,264 आवेदन स्वीकृत एवं 2180 प्रकरण वितरित किये जा चुके हैं।