बलरामपुर : एडमिशन के लिए गई छात्रा से गैंगरेप, मौत
इस ख़बर को शेयर करें

बलरामपुर । उत्तर प्रदेश में हाथरस में लड़की से बलात्कार और हत्या के बाद बलरामपुर में एक छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। बलरामपुर में 22 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप के बाद उसे बुरी जख्मी कर दिया गया, उसकी टांगों और कमर पर चोटें आईं। जिससे घर पहुंचने के कुछ घंटे बाद ही पीड़िता की मौत हो गई। छात्रा एडमिशन के लिए घर से निकली थी।

मंगलवार का है मामला बलरामपुर के गैसडी क्षेत्र की रहने वाली 22 साल की दलित युवती के साथ मंगलवार (29 सितंबर) को गैंगरेप की घटना हुई। परिजनों का कहना है कि लड़की अपने एडमिशन के लिए सुबह करीब 10 बजे निकली थी। शाम को एक रिक्शा में वापस घर पहुंची, तो वो ठीक से चल नहीं पा रही थी और रिक्शा पर भी खून बिखरा था।

पूछने पर उसने अपने साथ हुई घटना की बात बताते हुए मां से कहा कि वो बचेगी नहीं। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गई। बुधवार को लड़की का पोस्टमार्टम कराया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि उसे साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। मां बोली, नशे का इंजेक्शन देकर हैवानियत लड़की की मां का कहना है कि उनकी बच्ची को नशे का इंजेक्शन देकर हैवानियत की गई है, वो घर आई तो ठीक से बोल और चल भी नहीं पा रही थी।

मां का कहना है कि जब लड़की कॉलेज पहुंची तो उसे आरोपी युवक गैसड़ी बाजार लेकर गया। जहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और फिर उसे रिक्शा में बैठाकर भेज दिया। पुलिस ने मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी चाचा और भतीजा बताए गए हैं।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने घटना पर ट्वीट करते हुए बुधवार को कहा कि हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न का घृणित अपराध हुआ है व घायलावस्था में पीड़िता की मृत्यु हो गयी है. श्रद्धांजलि! भाजपा सरकार बलरामपुर में हाथरस जैसी लापरवाही व लीपापोती न करे और अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई करे।

हाथरस में 19 साल की लड़की से हैवानियत हाथरस के चंदपा क्षेत्र की रेप पीड़ता की दो दिन पहले ही मौत हुई है। लड़की 14 सितंबर को अपनी मां के साथ पशुओं का चारा लेने खेतों पर गई थी। तभी गांव के कुछ युवक आए और उसके साथ रेप किया। लड़की के साथ बुरी तरह से मारपीट भी की गई। उसकी रीढ़ की हड्डी में चोट आई और दरिंदगी की हद करते हुए उसकी जीभ काट दी गई। पहले अलीगढ़ में उसका इलाज हुआ और फिर गंभीर हालत में लड़की का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा था। जहां 29 सितंबर, मंगलवार को उसने दम तोड़ दिया।