भारत के हारने पर युवती ने लगाई फांसी
ग्वालियर। विश्वविघालय थाना क्षेत्र स्थित सीता मैनोर के पीछे बालाजी एन्क्लेव में रहने वाली एक युवती ने बीते रोज हुए मैच में इंडिया की हार से दुखी होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि उसने मैच देखते वक्त कहा था कि इंडिया के जीतने पर प्रसाद चढ़ाएगी औऱ हारने पर जान दे देगी। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पडताल शुरू कर दी है।
मैच हारते ही जिदंगी हारी
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार MITS में M.Tech कर रही सुरभि कम्ठान गुरुवार रात परिजन के साथ इंडिया-वेस्ट इंडीज T-20 वर्ल्ड कप मैच देख रही थी। तभी सुरभि ने कहा था, अगर टीम इंडिया मैच जीती तो प्रसाद चढ़ाएगी, और हारी तो जान दे देगी। लेकिन घर के लोग इसे मजाक समझते रहे और उन्होने अपनी बेटी की बात को गंभीरता से नहीं लिया।
थोेड़ी ही देर बाद टीम इंडिया की हार व मैच खत्म होने के बाद निराशा जताते हुए वह अपने कमरे में चली गई। इसके बाद परिजन भी सोने के लिए अपने कमरे में चले गए।
शुक्रवार को सुबह परिवार वालों ने उसे जगाने के लिए उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। अंदर से कोई जबाव नही आया तो भाई और पिता भी वहां आ गए, सबने मिल कर दरवाजा खोला तो देखा सुरभि सीलिंग फैन से लटकी हुई थी। घर के लोगों ने पुलिस को इस घटना की जानकारी दी । घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती की मौत पर मर्ग कायम कर मामले की जांच पडताल शुरू कर दी है।
फेमिली बैकग्राउंड हाई प्रोफाइल
इंडिया की हार से दुखी होकर फांसी लगाने वाली सुरभि खुद MITS से M.Tech कर रही थी, जबकि उसकी एक बहन रितिका MBA करने के बाद Cadbury के HR विभाग में काम कर रही है। वहीं,उसके पिता योगेश कम्ठान मध्यप्रदेश एक्साइज में सहायक जिला आबकारी अधिकारी हैं, जबकि मां संगीता सरकारी स्कूल में काम करती हैं।
बताया गया है कि सुरभि का एक बड़ा भाई USA की क्रिसलर में प्रोजेक्ट लीडर है, एक भाई JK टायर में इंजीनियर है और छोटा भाई शहर के एक इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहा है।