लापरवाही से दुर्घटनाग्रस्त होने से बची सरयू एक्सप्रेस

प्रतापगढ़ : रेलकर्मियों की लापरवाही से रविवार की रात इलाहाबाद से फैजाबाद जा रही सरयू एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। ट्रेन के चालक की सूझबूझ से हादसा टल गया। चालक ने इस मामले की शिकायत रेल अफसरों से की है। मामला संज्ञान में आने पर अफसरों ने इस संबंध में संबंधित विभाग के कर्मचारियों से जवाब मांगा है। इस मामले में फंसते देख सिग्नल व परिचालन विभाग के कर्मचारी उल्टा चालक पर ही आरोप लगा रहे हैं।

रविवार की रात फैजाबाद से प्रयाग को जा रही पैसेंजर ट्रेन को सिग्नल लोअर करके प्रतापगढ़ स्टेशन से गुजारा गया। प्लेटफार्म के बगल दोनों ओर का सिग्नल लोअर करके छोड़ दिया गया। इसके कुछ ही देर बाद इलाहाबाद से आ रही सरयू एक्सप्रेस का लाइन हो गया। ट्रेन जैसे ही आउटर के पहले पहुंची तो चालक ने दोनों ओर का सिग्नल लोअर देख फौरन ट्रेन रोक दी। इसके बाद चालक ने इसकी सूचना स्टेशन मास्टर को दी। स्टेशन मास्टर ने इस सूचना सिग्नल विभाग को दी। चालक ने धीरे धीरे ट्रेन को प्लेटफार्म पर लाकर खड़ी किया और इसकी शिकायत अफसरों से की। चालक के रिपोर्ट करने से नाराज क्लर्क गोविंद से चालक की कहासुनी हो गई।

मामला बढ़ते देख कार्यालय के अन्य कर्मचारियों ने हस्तक्षेप किया, इसके बाद मामला शांत हुआ। इस बारे में वरिष्ठ खंड अभियंता सिग्नल पुर्णेद्र कुमार ने बताया कि यह प्रकरण उनसे संबंधित नहीं है। इसके बारे में सीनियर डीएसटी ही कुछ बता सकते हैं। हालांकि अभियंता का यह जवाब चौकाने वाला था। इस बारे में स्टेशन अधीक्षक त्रिभुवन मिश्र का कहना है कि चालक को गलतफहमी हुई है। दोनों ओर का सिग्नल लोअर हो ही नहीं सकता है। चालक ने गलत रिपोर्ट की है।