पाकिस्तान के दो दर्जन WhatsApp ग्रुपों से जुड़ें संदिग्ध युवक को सैन्य क्षेत्र में जासूसी के शक में पकड़ा
इस ख़बर को शेयर करें

कोटा। शहर के सैन्य क्षेत्र में जासूसी करने के मामले में सेना ने एक संदिग्ध को पकड़कर शनिवार शाम को भीमगंजमंडी पुलिस के हवाले कर दिया। सेना ने उस पर सेना क्षेत्र में अनाधिकृत प्रवेश व सेना की सूचनाएं पाकिस्तान को लीक करने का आरोप लगाया हैं। इस पर पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

उप निरीक्षक चेतन शर्मा ने बताया कि उत्तरप्रदेश के बागपत के गांव निवाधा निवासी इमरान (21) को सेना के जवानों ने जयपुर से सेना इंस्टेलीजेंस की सूचना पर कोटा सेना इलाके में संदिग्ध हालत में पकड़ा। उससे पूछताछ करने पर वह संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया।

इस पर सेना ने उसकी संदिग्ध गतिविधियों को देखते हुए उसे पकड़कर भीमगंजमंडी पुलिस के हवाले कर दिया। इस बारे में सीआईडी, एटीएस, पुलिस और अन्‍य सुरक्षा एजेन्सियांं आरोपित से पूछताछ कर रही हैं। पुलिस व सेना दोनों ने इस मामले की सूचना अपने उच्चाधिकारियों को दी है।

सोशल मीडिया के जरिए संपर्क में था: सूचना के अनुसार आरोपित व्हाट्स अप, फेसबुक से पाकिस्तान को सूचनाएं भेजता था। उसके द्वारा सेना क्षेत्र के कुछ फोटो व वीडियो भी पाकिस्तान को भेजे गए हैं। इसके अलावा रेलवे स्टेशन के भी उसने फोटो व वीडियो पाकिस्तान भेजे हैं। वह पाकिस्तान के दो दर्जन व्हाट्स एप ग्रुपों से जुड़ा है व वहां ऑडियो व वीडियो शेयर करता हैं।

बीकानेर सेना क्षेत्र पर भी कर चुका है काम: आरोपित आर्मी में कार्यरत ठेकेदार प्रेम के मार्फत बीकानेर सेना एरिया में भी लकड़ी के काम से प्रवेश कर चुका हैं। वर्तमान में वह मैस में काम कर रहा था। इसके अलावा फर्नीचर यार्ड में भी उसने दो माह काम किया।