खाद की कालाबाजारी एवं अमानक खाद विक्रय पर करें कार्यवाही : कलेक्टर

सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का त्वरित निराकरण करें, समयसीमा की बैठक में कलेक्टर के निर्देश

जबलपुर । कलेक्टर भरत यादव ने आज सोमवार को आयोजित समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कोरोना और स्वास्थ्य से जुड़ी सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों का तुरन्त निराकरण करने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने खाद्य एवं कृषि विभाग से सबंधित शिकायतों के निराकरण को भी प्राथमिकता देने की हिदायत अधिकारियों को दी हैं । श्री यादव ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन से मिली कोरोना से जुड़ी कोई भी शिकायत चाहे वो सेम्पल या उपचार को लेकर हो अथवा क्वारन्टीन या कोविड केयर सेंटर में भोजन की गुणवत्ता के बारे में उनके निराकरण में तत्परता बरतना होगी।                               

कलेक्टर ने बैठक में एडमिशन की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू होने के बावजूद कॉलेजों में छात्रों की लग रही भीड़ को देखते सभी एसडीएम को निर्देश देते हुये कहा वे अपने क्षेत्रों में महाविद्यालयों पर नजर रखें और किसी भी सूरत में छात्रों को एकत्र न होने दें । कलेक्टर ने बैठक में टीएल प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा भी की और अधिकारियों को प्राप्त आवेदनों का ऑनलाइन निराकरण करने के साथ इसकी सूचना सम्बन्धित आवेदक को देने की हिदायत दी है । श्री यादव ने बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ हर पात्र किसान तक पहुँचाने के लिये ग्रामीण क्षेत्रों में वृहद स्तर पर शिविरों का आयोजन करने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी एसडीएम से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में शिविरों का शेड्यूल तैयार कर इनका आयोजन शुरू करें। श्री यादव ने इन शिविरों में राजस्व प्रकरणों का निराकरण करने और अन्य शासकीय योजनाओं के तहत भी ग्रामीणों से आवेदन प्राप्त करने के निर्देश दिये।             

बैठक में प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना की प्रगति समीक्षा भी की गई । कलेक्टर ने इस योजना के तहत शहरी क्षेत्र में पंजीकृत 50 फीसदी पथ विक्रेताओं को  पन्द्रह अगस्त तक ऋण वितरण करने के लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश नगरीय निकायों के अधिकारियों को दिये हैं। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में भी इस योजना का तेजी से क्रियान्वयन करने और ज्यादा से ज्यादा पथ विक्रेताओं तक इसका लाभ पहुँचाने पर जोर देते हुये जिला पंचायत के सीईओ से कहा कि योजना के क्रियान्वयन पर नजर रखने और इसकी नियमित तौर पर समीक्षा करने कहा।

श्री यादव ने बैठक में राजस्व प्रकरणों के निराकरण में और गति लाने की जरूरत भी बताई । उन्होंने कहा कि नामान्तरण, सीमांकन और बंटवारा के ऑनलाइन प्राप्त आवेदनों का निराकरण आरसीएमएस पोर्टल के माध्यम से ही किया जायें। बैठक में कलेक्टर ने सभी एसडीएम को आने वाले दस-पन्द्रह दिनों के भीतर उन सभी स्थानों पर पौधा रोपण कराने के निर्देश दिये हैं जहाँ भी इसकी आवश्यकता है। श्री यादव ने कहा कि पौधारोपण के इन कार्यों में स्वयंसेवी संगठनों  की सहभागिता भी सुनिश्चित की जाये। उन्होंने पौधारोपण में एक वर्ष की आयु के पौधे लगाने और जहाँ सुरक्षा की जरूरत हो वहाँ ट्री-गार्ड लगाने या फेंसिंग के निर्देश भी दिये ।

बैठक में कलेक्टर ने स्मार्ट सिटी द्वारा पौधारोपण में बरती जा रही ढिलाई पर नाराजी भी जाहिर की। उन्होंने खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सभी श्रेणी के पात्र हितग्राहियों के सर्वे और अपात्रों के नाम काटने तथा पात्र लोगों के नाम जोडऩे की प्रक्रिया की समीक्षा भी की। कलेक्टर ने पूर्व में जारी पात्रता पर्ची वाले परिवारों के नाम जोडऩे के निर्देश भी अधिकारियों को दिये। श्री यादव ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के उपभोक्ताओं के आधार सीडिंग के कार्य में हुई प्रगति का ब्यौरा भी लिया तथा इस दिशा में नगर निगम द्वारा अपेक्षा के अनुरूप कार्य नहीं कर पाने पर अप्रसन्नता व्यक्त की।

उन्होंने शहरी क्षेत्र के तीनों एसडीएम को इस काम पर निगरानी रखने के निर्देश देते हुये कहा कि यदि नगर निगम का अमला इसमें सहयोग नहीं करता है तो उनके विरुद्ध कार्यवाही का प्रस्ताव भेजें। कलेक्टर ने बैठक में सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत अगस्त माह के खाद्यान्न का वितरण शीघ्र सुनिश्चित करने की हिदायत भी दी। उन्होंने डबल लॉक केंद्रों और समिति स्तर पर खाद-बीज की निरन्तर उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुये कहा कि खाद की कालाबाजारी और अमानक खाद के विक्रय की शिकायतों पर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाये।

कलेक्टर ने बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के उपायों पर चर्चा करते हुये सभी एसडीएम को अनुभाग स्तर पर पर आपदा प्रबंधन समितियाँ गठित करने और इनकी नियमित रूप से बैठकें आयोजित करने के निर्देश दिये। श्री यादव ने कहा कि एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में कोरोना संदिग्धों की सेम्पलिंग कराने एवं कोरोना पॉजिटिव के नजदीकी संपर्क वाले एवं हाई रिस्क वाले लोंगो को तुरन्त क्वारन्टीन सेंटर भेजने कहा। उन्होंने क्वारन्टीन और होम आइसोलेशन के नियम का पालन नहीं करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने की हिदायत भी दी।

श्री यादव ने बैठक में बताया कि राज्य शासन के निर्देशानुसार मंगलवार से जबलपुर जिले में रात्रि कालीन कफ्र्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक प्रभावी रहेगा। इस बारे में जल्दी ही आदेश जारी किये जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि जिले में अनलॉक-तीन के तहत दी गई छूटों को विराम देने पूरे जिले में रविवार का दिन ही निर्धारित किया गया है।                                                        

समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री यादव ने सुखसागर कोविड केयर सेंटर में भोजन की गुणवत्ता को लेकर मिली शिकायत पर आपूर्तिकर्ता को नोटिस देने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारी को दिये। इसके साथ ही उस दिन के भोजन के बिल का भुगतान रोकने की बात भी कही। श्री यादव ने कहा कि कोविड केयर सेंटर या क्वारन्टीन सेंटर में दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता में कोई कमी न हो यह हर हाल में सुनिश्चित किया जाये। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई इस बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर संदीप जीआर, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर वी पी द्विवेदी भी मौजूद थे।