सख्ती: डीएम की परीक्षा में शिक्षक फेल, अब होगी योग्यता की जांच

रामगढ़ (बलिया) गंगापार नौरंगा में चौपाल के दौरान डीएम की गणित व विज्ञान की परीक्षा में फेल एमएससी डिग्रीधारी शिक्षक की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं। अब उनके योग्यता की जांच होगी। डीएम ने प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए तथा स्थिति को अत्यंत खराब बताते हुए इसकी जांच बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपी है।

बैरिया तहसील की गंगा पार की पंचायत नौरंगा में बाढ़ कटान के निरीक्षण के साथ ही विकास कार्यों की समीक्षा के लिए दो दिन पहले बुधवार को डीएम की अध्यक्षता में चौपाल लगायी गई। इसमें बेसिक शिक्षा की दयनीय होती जा रही समस्या को ग्रामीणों ने पुरजोर तरीके से उठाया।

अधिकारी से विद्यालयों में अध्यापकों के नहीं आने की शिकायत के साथ ही पूमा विद्यालय भुआल छपरा पर नियुक्त प्रधानाध्यापक को हटाने तक की मांग की। इस पर गंभीर हुए डीएम ने उक्त प्रधानाध्यापक को मौके पर ही तलब कर लिया। दर्शक दीर्घा में पीछे खड़े हुए मास्टर साहब डीएम की पुकार पर सामने आए। अधिकारी ने ग्रामीणों से मिली शिकायतों का कारण जानना चाहा। लगे हाथ डीएम ने एमएससी पास गुरुजी से गणित व विज्ञान के मामूली सवाल पूछ डाले।

अफसोस, मास्साब किसी सवाल का सही व स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। जबकि कुछ देर पहले ही गणित के उसी सवाल का सही जवाब छठीं कक्षा के एक छात्र ने दिया था। इस पूरे प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने शिक्षक की योग्यता के साथ ही अन्य विद्यालयों को लेकर ग्रामीणों से मिली शिकायतों की जांच का निर्देश बीएसए को दिया है। बताया जाता है कि जांच की आंच से बचने के लिए मास्टर साहब भी ‘जुगाड़’ में लग गए हैं।