25 डाक्टरों व वेटनरी डाक्टरों की टीम लगायी गयी है-जिलाधिकारी

सिद्धार्थ नगर@ जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनपद में बाढ़ आ जाने और नदियों का जल स्तर नीचे जाने के पश्चात बाढ़ प्रभावित ग्रामों में सामान्यतः सक्रांमक बीमारियों के फैलने की सम्भावना बनी रहती है। इसे दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू द्वारा 25 डाक्टरों/पशु डाक्टरों की टीम लगायी गयी है। यह टीमें प्रतिदिन 100 गॉवों का भ्रमण करके मरीजों/पशुओं में फैलने वाली बीमारियों का परीक्षण करेगी।

जो व्यक्ति बाढ़ से प्रभावित होने के बाद बीमार हो गये है उनके चिकित्सीय परीक्षण करके दवा उपलब्ध करायेंगे जिससे किसी भी बाढ़ प्रभावित व्यक्ति को अनावष्यक रूप से किसी अन्य जगह इलाज कराने के लिए न जाना पड़े। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 रतन कुमार को निर्देश दिया है कि बाढ़ प्रभावित ग्रामवासियों के इलाज करने हेतु ड्यूटी पर लगाये गये डाक्टरों से निरन्तर सम्पर्क में रहकर मानीटरिंग करते रहेंगे तथा साथ ही साथ डाक्टर की टीमों द्वारा जिन दवाओं की मांग की जाती है उसे तत्काल उपलब्ध कराना सुनिष्चित करें।

इसके साथ ही साथ पशुओं में बाढ़ से होने वाली बीमारी के रोकथाम के लिए उनका उचित इलाज करने हेतु पशुओं के डाक्टरों को पर्याप्त मात्रा में औषधि/दवा उपलब्ध कराकर बाढ़ प्रभावित ग्रामों के पशुओं का इलाज करते रहे जिससे किसी भी बाढ़ प्रभावित व्यक्ति का कोई पशु बीमारी से कोई नुकसान न उठाना पड़े। जिला प्रशासन पूरी तरह बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराने के लिए समर्पित है।