1 फरवरी को ही पेश होगा बजट

सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग ने एक फरवरी को केंद्रीय बजट पेश किए जाने का रास्ता साफ किया, तारीखों को आगे बढाने संबंधी याचिका खारिज की, चुनाव आयोग ने कहा, चुनावी राज्यों के लिए नहीं की जा सकेगी किसी योजना की घोषणा।

चुनाव आयोग ने 1 फरवरी को बजट पेश करने को लेकर केंद्र को क्लीन चिट दे दी है। लेकिन साथ ही आयोग ने 2009 की एक एडवाइज़री का हवाला देते हुए कहा है कि केंद्र सरकार होने वाले चुनाव को ध्यान में रखे।

साथ ही चुनाव आयोग ने कहा है कि पांच राज्यों में होने वाले आगामी चुनाव को देखते हुए इन राज्यों से सम्बंधित किसी भी स्कीम की घोषणा इस बजट में नहीं की जा सकेगी।

इससे पहले कल ही उच्चतम न्यायालय ने आम बजट की तारीख़ आगे बढ़ाने संबंधी याचिका को सोमवार को ख़ारिज कर दिया।

सर्वोच्च न्यायालय ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र आम बजट 1 फ़वरी को पेश किए जाने के ख़िलाफ़ याचिका को ख़ारिज करते हुए कहा कि बजट से चुनाव किसी प्रकार से प्रभावित नहीं होंगे।

उच्चतम न्यायालय के इस फ़ैसले के बाद अब आम बजट संसद में 1 फ़रवरी को ही पेश किया जाएगा। संसद के बजट सत्र का पहला भाग 31 जनवरी को राष्ट्रपति के अभिभाषण से शुरू होगा।