खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) पर मुख्य सचिव ने की वीडियों कांफ्रेंसिंग

#मुरादाबाद: मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन ने वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण की समीक्षा करते हुये प्रदेश के सभी मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को शौचालय बनाने के कार्यो को गति देकर निर्धारित समय सीमा में खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) कराने के निर्देश दिये हैं। इस अवसर पर मुख्य सचिव के साथ अपर मुख्य सचिव पंचायती राज, निदेशक मिशन एवं डायरेक्टर मौजूद रहे। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों एवं मुख्य विकास अधिकारियों को प्रत्येक दिन शौचालयों की समीक्षा करने के निर्देश देते हुये कहा कि जनपद के आंगनवाडी केन्द्र एवं स्कूलों में बने शौचालयों का शत प्रतिशत सत्यापन करा लिया जाये तथा जिन शौचालयों में कमियां हैं उन्हें दुरुस्त करा लिया जाये।

उन्होंने कहा कि जो ग्राम प्रधान ओडीएफ कराने में अपनी विशेष भूमिका निभा रहे हैं या सहयोग दे रहे हैं, उन्हें सम्मानित किया जाये। उन्होंने कहा कि किसी भी ग्राम पंचायत में धनराशि अनपयुक्त न पडी रहे जाये। उपलब्ध धनराशि का शौचालय निर्माण में शत प्रतिशत सद्पयोग किया जाये।  शौचालय निर्माण को गति देने के संबंध में उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण करने वाले मिस्त्रियों को प्रशिक्षण दिया और उनकी संख्या भी बढाई जाये। सभी गांव में तत्काल स्वच्छता ग्राहियों की भी संख्या बढ़ाई जाये ताकि लोग जागरुक होकर शौचालय बनवाने में सहयोग करें तथा उसका उपयोग भी करें।

उन्होंने सभी मण्डलायुक्तों को निर्देशित किया है कि प्रत्येक माह की 05 तारीख तक बैठक कर अपने मण्डल से संबंधित सभी जिलों के शौचालय निर्माण की अद्यतन प्रगति की सूचना के साथ 10 तारीख को लखनऊ में आयोजित होने वाली बैठक में उपस्थित होगें। उन्होंने कहा सरकार के जितने भी कार्य प्राथमिकता एवं सुशासन के हैं उन्हें सभी अधिकारी पूरी तन्मेयता, निष्ठा एवं ईमानदारी से करें। उन्होंने कहा कि जो कार्य अक्टूबर माह में करने हैं उन सभी की रणनीति अभी से बना लें। इस अवसर पर मण्डलायुक्त श्री एल0 वेंकटेश्वर लू, जिलाधिकारी श्री राकेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी इन्दुमती, उप निदेशक पंचायत, जिला पंचायत राज अधिकारी, आदि उपस्थित थे।