डॉक्टर ने सर्जिकल ब्लेड से गला रेतकर की आत्महत्या

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर @ मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सर्जरी विभाग में पदस्थ डॉक्टर विनोद कुमार विश्वकर्मा 44 ने गुरुवार दोपहर धनवंतरी नगर स्थित किराए के मकान में सर्जिकल ब्लेड से गला रेतकर आत्महत्या कर ली। उनका रक्तरंजित शव शौचालय का दरवाजा तोड़कर बाहर निकाला गया। घटना का पता तब चला जब केंद्रीय जेल में पदस्थ उनकी डॉक्टर पत्नी ममता विश्वकर्मा ड्यूटी के बाद घर पहुंची। पति डॉ विनोद घर में नहीं मिले।

पत्नी की नजर भीतर से बंद शौचालय पर पड़ी। दरवाजा खटखटाने के बाद भी शौचालय के भीतर से आवाज नहीं आई। जिसके बाद उन्होंने पड़ोसियों और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शौचालय का दरवाजा तोड़ा। डॉ विश्वकर्मा का रक्तरंजित शव शौचालय में पड़ा था। जिसके बाद एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया गया। एफएसएल टीम ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने घटना की जांच के निर्देश दिए हैं।

मेडिकल कालेज अस्पताल के सर्जरी विभाग में पदस्थ डॉक्टर विश्वकर्मा गुरुवार को ड्यूटी नहीं गए थे। उनकी पत्नी जेल में ड्यूटी पर उपस्थित थीं। मेडिकल के डॉक्टर्स को दोपहर में जब घटना का पता चला उनके होश उड़ गए। डॉक्टर विश्वकर्मा दंपति के दो बेटे अनुभव और स्पर्श हैं जिनकी 10 और 13 साल बताई जा रही है।

इधर पुलिस ने डॉक्टर विश्वकर्मा के घर का शौचालय सील कर दिया है। घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है। यह भी बताया जा रहा है की डॉक्टर विनोद अक्सर ड्यूटी से अनुपस्थित रहने लगे थे।