भोपाल: शिवराज मामा से पिता के हत्यारे को सजा दिलाने की मांग कर रही भांजी ने किया आत्महत्या का प्रयास ट्विटर पर ट्रोल हो रहा है वीडियो

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

भोपाल :- मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के गोविंदपुरा में रहने वाली बेटी न्याय न मिलने से इतनी बुरी तरह आहत हो गई कि उसने हार कर आज आत्महत्या करने का प्रयास किया. सुसाइड नोट के साथ साथ पीड़िता ने वीडियो भी जारी किया।

पीड़िता ने बताया कि वह लंबे समय से सीएम ऑफिस के चक्कर काट रही हैं पर उन्हें अब तक न्याय नहीं मिला. मुख्यमंत्री से मिलना तो दूर पुलिस वाले मुख्यमंत्री आवास के सामने भी खड़े नहीं होने दे रहे हैं. जब भी पीड़िता और उनके परिजन मुख्यमंत्री से न्याय मांगने मुख्यमंत्री दफ्तर गए तब तक पुलिस वालों ने उन्हें भगा दिया। थक हार कर अब बेटी ने सुसाइड नोट लिखा है।

पीड़िता ने ए एस आई, एस आई, और पूरे पुलिस प्रशासन को अपनी आत्मा हत्या का जिम्मेदार ठहराया. सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि उसे जो कुछ भी होता है उसके जिम्मेदार ये लोग होंगे . पीड़िता ने बताया कि केस में हेराफेरी की गई है. आरोपी के परिजन पैसे देकर पुलिस वालों से पीड़िता के परिजनों को बरगला रहे हैं.

मुख्यमंत्री के संज्ञान में पूरी जानकारी है पर अभी तक न्याय नहीं मिल पाया. पीड़िता का कहना है कि मुख्य आरोपियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है. बिल्ला चौहान जो आरोपियों का रिश्तेदार है वह पाकिस्तान तक सट्टेबाजी करता है. उसके खिलाफ कई प्रकरण दर्ज हैं.

पर इन सभी लोगों के खिलाफ सबूत देने पर भी कोई उचित कार्रवाई नहीं हो रही है.. प्रशासन मौन है..  पीड़िता ने नोट में लिखा कि 6 महीने से नेताओं अधिकारियों के सामने शिकायत कर कर के हमारा पूरा परिवार थक गया है. अभी तक न्याय नहीं मिली है.  इसीलिए आज आत्महत्या कर रही हूं..

भोपाल के गोविंदपुरा निवासी किरण राजपूत लगातार सरकार से अपने पिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए गुहार लगा रही हैं. उनका कहना है कि पुलिस लगातार साक्ष्यों को मिटाने में लगी हुई है. उन्होंने बताया कि CM के आश्वासन के बाद भी हत्यारों को बचाया जा रहा है. किरण(Kiran rajput) का कहना है कि पुलिस प्रशासन हत्यारों के चाचा बिल्ला चौहान की जेब में है. बिल्ला चौहान मध्य प्रदेश का गुंडा है जो हमें न्याय नहीं मिलने दे रहा है, किरण का यह भी कहना है कि बिल्ला चौहान ने अपने गुंडों से गरीबों को पिटवा कर उन्हें उनके घर से ही बेदखल कर दिया है. इसके साथ ही किरण ने यह भी आरोप लगाया है कि बिल्ला अवैध कारोबार करता है उसके पास अवैध धन है.

किरण ने वीडियो के माध्यम से बताया कि उनके पिता ने हत्या से पहले एक एप्लीकेशन लिखा था, जिसे मैंने गोविंदपुरा थाने में टीआई अशोक परिहार को जमा किया था पर इस एप्लीकेशन को साक्ष्यों में सम्मिलित नहीं किया गया. पुलिस लगातार साक्ष्यों को मिटाने में जुटी हुई है.