अयोध्या में मस्जिद के लिए पहला दान 21,000 रुपये एक हिंदू की तरफ से आया
इस ख़बर को शेयर करें

अयोध्या: हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की मिसाल कायम करते हुए उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में एक मस्जिद के प्रस्तावित निर्माण की दिशा में पहला दान एक हिंदू की तरफ से आया है. लखनऊ विश्वविद्यालय के विधि संकाय के सदस्य रोहित श्रीवास्तव ने धनीपुर गांव में मस्जिद के लिए 21,000 रुपये का दान दिया है, जिसके चलते मस्जिद ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने उनकी प्रशंसा की है.

हुसैन ने कहा, “मस्जिद के निर्माण के लिए पहला योगदान एक हिंदू भाई की तरफ से आया है, जो भारतीय संस्कृति का एक अनुकरणीय और दिल को छू लेने वाला उदाहरण है.” पांच एकड़ जमीन पर मस्जिद, पुस्तकालय, संग्रहालय और सामुदायिक रसोईघर का निर्माण करने के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा गठित इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (आईआईसीएफ) ने एक कोष की स्थापना की है.

श्रीवास्तव ने कहा, “मैं एक ऐसी पीढ़ी से हूं, जो समकालिकता की भावना में यकीन रखता है, जिसमें धर्म को लेकर बाधाएं धुंधली पड़ जाती हैं. मैं अपने मुस्लिम दोस्तों के बिना होली या दिवाली नहीं मनाता और वे मेरे बिना ईद नहीं मनाते. यह भारत के करोड़ों हिंदुओं और मुसलमानों की यही कहानी है. मैं हिंदू समुदाय के सदस्यों से अपील करता हूं कि वे आगे आएं और मस्जिद चाहने वालों को यह संदेश दें कि वे हमारे भाई हैं.”

जिला प्रशासन ने बाबरी मस्जिद के बदले अगस्त में वक्फ बोर्ड को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार पांच एकड़ की जमीन सौंपी थी. फरवरी, 2020 में उत्तर प्रदेश सरकार ने राम जन्मभूमि परिसर से लगभग 25 किलोमीटर दूर फैजाबाद की सदर तहसील में धनीपुर में भूमि आवंटित करने की घोषणा की थी.