ये एक चीज़ अंगूठे में पहनी तो बदल जाएगी आपकी किस्‍मत

गर आपकी किस्‍मत और कुंडली में शुक्र बुरा प्रभाव दे रहा है तो व्यक्ति को धन, बुद्धि और स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियां लगातार बनी रहती हैं। यह व्यक्ति के जीवन को असफल और दयनीय बना देता है। वहीं शुक्र के साथ आपके रिश्ते भी जुड़े होते हैं।

अगर शुक्र खराब हो तो आपके पारिवारिक जीवन में परेशानियां आती रहती है। अगर लाइफ में लगे कि आपका पारिवारिक जीवन और लवॉ लाइफ में बुरा समय चल रहा है तो मान लें कि शुक्र आपकी कुंडली में बुरी स्थिति में है।

रत्न से मिटाए जाते हैं दोष
ज्योतिषशास्त्र में हाथों में अलग-अलग तरह के रत्न पहनने से कई तरह के दोष मिटाए जाते हैं। हर अंगुली किसी ना किसी ग्रह से जुड़ी होती है। इसलिए संबंधित ग्रहों की स्थिति सुधार में उन अंगुलियों में कुछ विशेष धातुओं के साथ अंगूठियां पहनी जाती है।

वैसे ही एक छोटी सी चीज आप अपनी अंगुली में पहन सकते है जिससे आपकी किस्मत चमक सकती है। हिंदू धर्म में चांदी को बहुत शुद्ध और प्रभावशाली धातु माना गया है। चांदी का प्रयोग कई रूपों में होता है और यह हर तरीके से इंसान को फायदा ही पहुंचाती है। ऐसा माना जाता है कि चांदी भगवान शंकर के नेत्रों से उत्पन्न हुई थी।

हस्‍तरेखा ज्‍योतिष में अंगूठे के लिए खास उपाय
ज्योतिषशास्त्र में चांदी का संबंध चंद्रमा और शुक्र से है। हस्तरेखा ज्योतिष में अंगूठे को शुक्र से संबंधित माना जाता है, इसलिए इसका प्रभाव आपके भौतिक जीवन पर पूरी तरह दिखता है। इसलिए आप अंगूठे में चांदी का छल्ला पहन कर इस ग्रह को शांत रख सकते है।

ये धातु केवल इसके शुभ फलों को ही आप तक आने देते हैं और शुक्र के कारण आपके जीवन में आनेवाली नकारात्मक ऊर्जा को आपसे दूर रखता है। चांदी का छल्ला दाएं हाथ की कनिष्ठा अंगुली में पहनना सबसे अच्छा रहता है।

ध्यान रखें ये बातें

  • चांदी की अंगूठी पहनने से पहले जान लें कि ये जितनी शुद्ध होगी उतना ही अच्छा होगा।
  • सोने के अलावा चांदी में कोई और धातु न मिलाएं।
  • जिन लोगों को भावनात्मक परेशानियां ज्यादा हैं, वो चांदी का प्रयोग सावधानी से करें।
  • कर्क, वृश्चिक और मीन राशि वालों के लिए चांदी हमेशा उत्तम रहती है। मेष, सिंह और धनु के लिए चांदी बहुत अच्छी नहीं होती। बाकी राशियों के लिए चांदी के परिणाम सामान्य होते हैं।