डेढ़ लाख किसानों से तीन लाख मी. टन दलहन फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी

उज्जैन | प्रदेश में किसानों से ग्रीष्मकालीन मूंग, उड़द एवं अरहर की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा रही है। ग्रीष्मकालीन उड़द एवं मूंग की खरीदी 10 जून और तुअर की खरीदी 13 जून से प्रारंभ की गई है।

राज्य शासन द्वारा 10 जून से अभी तक 1,53,649 किसानों से 3,06,915 मी. टन दलहन फसलों का समर्थन मूल्य पर क्रय किया गया, जिसकी कुल लागत रूपये 1,522 करोड़ है। राज्य सरकार द्वारा इन किसानों को रूपये 503.17 करोड़ का मण्डी में प्रचलित दरों से अधिक भुगतान किया गया।

मूंग की प्रचलित मण्डी दर रूपये 3300 प्रति क्विंटल है जबकि समर्थन मूल्य रूपये 5,225 प्रति क्विंटल है। अभी तक 92,468 कृषकों से 1,93,480 मी. टन मूंग समर्थन मूल्य पर क्रय की गई है, जिसकी कुल कीमत रूपये 1010.93 करोड़ है। इसी प्रकार, समर्थन मूल्य पर मूंग क्रय कर कृषकों को रूपये 371.50 करोड़ अतिरिक्त राशि उपलब्ध करायी गई है।

किसानों को प्रचलित दरों से रूपये पाँच सौ करोड़ से अधिक का भुगतान

मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना अंतर्गत उड़द की खरीदी रूपये 5000 प्रति क्विंटल की दर से 13,132 किसानों से 25,570 मी. टन क्रय की गई, जिसका मूल्य रूपये 127.50 करोड़ है, जबकि प्रचलित मण्डी दर रूपये 4100 प्रति क्विंटल रही। किसानों के शासन द्वारा उड़द खरीदी द्वारा प्रचलित दर से रूपये 22.95 करोड़ की राशि अतिरिक्त रूप से भुगतान की गई।

प्रदेश में अरहर के विपुल उत्पादन को दृष्टिगत रखते हुए रूपये 5,050 प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर 68,085 मी. टन अरहर (रूपये 305.51 करोड़ मूल्य) का उपार्जन 24,399 कृषकों से किया गया। प्रचलित मण्डी दर रूपये 3700 प्रति क्विंटल की तुलना में कृषकों को रूपये 91.91 करोड़ा का ज्यादा लाभ प्रदाय कराया गया है।

मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना अंतर्गत रूपये 3,950 प्रति क्विंटल की दर से 19,780 मी. टन मसूर 8,050 किसानों से क्रय की गई। इसकी कुल क्रय कीमत रूपये 78.21 करोड़ है। मण्डी की प्रचलित दर रूपये 3,100 प्रति क्विंटल की तुलना में रूपये 16.81 करोड़ की अतिरिक्त राशि किसानों को उपलब्ध कराई गई।