प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तीन साल पूरे

इस ख़बर को शेयर करें:

देश के अंतिम छोर पर खड़े आम आदमी को विकास की मुख्य धारा में शामिल करने के लिए केन्द्र सरकार ने कई महत्वाकांक्षी योजनाओं की शुरुआत की थी. इसी में से एक मुद्रा योजना को रविवार को तीन साल पूरे हो गये हैं.

इस खास मौके पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया और कहा कि ‘मुद्रा योजना भारत के युवाओं और महिलाओं के बीच उद्यम और आत्म निर्भरता की भावना को आगे बढ़ा रही है. मुद्रा लाभार्थियों की एक बड़ी संख्या अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के समुदायों से महिलाओं और युवाओं की है, जो बेहद उत्साहित हैं. मुद्रा योजना के जरिए एमएसएमई क्षेत्र को महत्वपूर्ण प्रोत्साहन मिला है. एमएसएमई एक ऐसा क्षेत्र है जो भारत के परिवर्तन के लिए महत्वपूर्ण है. हमारी सरकार इस क्षेत्र में आगे विकास की सुविधा के लिए कई कदमों और सुधारों को अपना रही है.’

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना सशक्तिकरण का एक बहुत बड़ा जरिया बन चुकी है. देश में अलग-अलग स्तर पर रोजगार के अवसर हमेशा बनते रहें, इसके लिए मौजूदा सरकार ने कई ठोस कदम उठाए हैं. मोदी सरकार ने छोटे उद्यमियों को आसानी से ऋण मुहैया कराने की प्रतिबद्धता के साथ रोजगार सृजन और स्व-रोजगार को बढ़ावा देने के लिए मुद्रा योजना की शुरुआत की थी.