प्रयागराज: तीन जवान बेटों व पति सहित प्रधान दो साल से ले रही थी वृद्धा पेंशन, 78000 रिकवरी के साथ डीएम ने पद से भी हटाया

प्रयागराज। जिले में धांधली का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां बहरिया विकास खंड के ग्राम पंचायत जुगनीडीह की प्रधान को भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते उनके पद से हटा दिया गया है। डीएम की जांच में सामने आया है कि प्रधान ने गलत तरीके से वृद्धा पेंशन का लाभ खुद व अपने परिवार वालों को दिया था। मामला सही साबित होने पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार ने पेंशन की रिकवरी भी हुई है।

गांव के एक शख्स ने की थी शिकायत

ग्राम पंचायत जुगनीडीह की प्रधान अख्तरी बानो (60) हैं। उन्होंने खुद को वृद्धा पेंशन के लिए पात्र बनाया, साथ ही पति मोहम्मद रफीक (63) को भी इसका लाभ दिलाया। यहां तक प्रधान के बेटे फैजान अहमद (32), रिजवान अहमद (28), सलमान अहमद (24) ने भी गलत उम्र दर्शाकर 2018 से वृद्धा पेंशन ले रहे थे। इस बात की जानकारी गांव के शहरयार को हुई तो उन्होंने पूर्व में मुख्य विकास अधिकारी, जिलाधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी को शिकायती पत्र दिया था।

धांधली साबित पर दंडात्मक कार्रवाई नहीं

कार्रवाई नहीं होने पर शहरयार ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। सात सितंबर को मामला कोर्ट में सुनवाई के लिए लगा है। यह बात जब जिले के आला अधिकारियों को पता चली तो उन्होंने प्रधान पर दबाव बनाया। इस पर पांचों लोगों द्वारा पेंशन के रूप में लिए गए 78000 रुपए ट्रेजरी चालान के माध्यम से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की मुख्य शाखा में जमा करा दिया गया। हालांकि, अधिकारियों द्वारा दंडात्मक कार्रवाई नहीं कराई गई।