समय सीमा के अन्तर्गत शौचालय निर्माण का कार्य पूर्ण कराये-मुख्य विकास अधिकारी

मुज़फ्फरनगर@ शौचालय का निर्माण पूरा कराया जाये। उन्होने कहा कि पात्र लाभार्थियों को प्रथम किस्त का शौचालय निर्माण का पैसा 6 हजार रूपये की दर से भेजा जा चुका है। उन्होने कहा कि निर्धारित समय सीमा के पूर्व अपने लक्ष्य को पूर्ण करना है। उन्होने बताया कि 132 ग्राम पंचायतों के ओडीएफ के प्रस्ताव प्राप्त हो चुके है। जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम से सत्यापन का कार्य कराया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल आज यहां जिला पंचायत सभागार में ग्राम पंचायतों को ओडीएफ करने के सम्बन्ध में ग्राम चैम्पियनों तथा स्वच्छतागृहियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्हेाने निर्देश दिये कि एडीओ पंचायत प्रत्येक ब्लॉक में स्वच्छतागृहियों की ट्रेनिंग कराये।

उन्होने कहा कि डोर टू डोर सर्वे में पात्र सभी परिवारों को शौचालय निर्माण के लिए धनराशि दी जायेगी। उन्होने बताया कि 32 ग्राम पंचायतों का जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम द्वारा सत्यापन का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। उन्होने कहा कि जिस ग्राम में ग्राम चैम्पियनों की संख्या कम है वहां पर एडीओ पंचायत संख्या बढायें और शौचालय निर्माण की प्रगति दिखायें। उन्हेाने कहा कि सभी ब्लॉकों में प्रतिदिन औसत 100 शौचालय निर्मित होने चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक ग्राम चैम्पियन को 3-3 ग्राम आंवटित किये गये है। उन्होेने कहा कि स्वच्छतागृहियों की टीम तैयार कर ले। उन्होने कहा कि जिन ग्राम चैम्पियनों का भुगतान नही किया गया है उनका भुगतान करना सुनिश्चित किया जाये।

उन्होने विकास खण्डवार शौचालय निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। उन्हेानेे कहा कि शौचालय निर्धारित डिजाईन के अनुसार बनाये जाने सुनिश्चित किये जाये। उन्होने कहा कि गांवो में वॉल पेंटिग, कम्पीटीशन भी कराये जाये इसका अलग से भुगतान कराया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जो भी शौचालय बनाये जाये वे मानकों के अनुसार हो और पारदर्शी ढंग से कार्य कराया जाये। उन्होने कहा कि अपात्र व्यक्ति को लाभाविंत किसी भी दशा में न होने दिया जाये। उन्होने कहा कि यदि अपात्र को लाभांवित करने की कोई शिकायत प्राप्त होगी तो सम्बन्धित के विरूद्ध जांच कराकर कडी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि हमारा लक्ष्य 498 ग्राम पंचायतों को समय सीमा के अन्तर्गत ओडीएफ कराना है उन्हेाने कहा कि यदि घर में शौचालय नही होगा तो हमारी बहन, बेटियों को शौच के लिए खुले में जाना पडेगा। उन्होने कहा कि लोगो को जागरूक करे कि अपने घर में जल्द से जल्द शौचालय बनवायें और उसका नियमित उपयोग भी करें।
उन्होने बताया कि खुले में शौच करने से बीमारियां बढती है और आय का अधिकांश भाग बीमारी के उपचार में चला जाता है। उन्होने कहा कि जो पात्र व्यक्ति शौचालय निर्माण करना जानता है वह शौचालय निर्माण कर ले। उन्होने कहा कि शौचालय निर्माण हेतु अनुमन्य धनराशि लाभार्थी के खाते में भेज दी जायेगी।