ईरानी जनरल के मारे जाने को ट्रम्प ने उचित ठहराया, भारत ने दिया शांति पर जोर

ईरानी जनरल के मारे जाने पर भारत ने सधी हुई प्रतिक्रिया देेते हुए कहा कि क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण है। विदेश मंत्रालय ने स्थिति और न बिगडने पर जोर दिया। अमेरिका द्वारा ड्रोन हमले के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में ट्रंप ने कहा, ‘कासिम सुलेमानी की हत्‍या ईरान के साथ विवाद बढ़ाने के लिए नहीं की गई है।

भारत के विदेश मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि… हमें मालूम हुआ है कि अमेरिका द्वारा एक वरिष्ठ ईरानी नेता की हत्या कर दी गई है। इस बढ़े हुए तनाव ने विश्व के लिए चिंता पैदा कर दी है। इस क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा भारत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। ये काफी अहम है कि क्षेत्र में स्थिति और ना बिगड़े। भारत लगातार दूरी बनाए रखने का पक्षधर रहा है और आगे भी ऐसा करता रहेगा।

गौरतलब है कि 31 दिसंबर को बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर ईरान समर्थित हमला हुआ था जिसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस हमले का खामियाजा भुगतने की चेतावनी दी थी. चेतावनी देने के बाद अमेरिका ने बगदाद एयरपोर्ट पर एयरस्ट्राइक की थी और इस हमले में कई बड़े सैन्य अधिकारी मारे गए। अब सवाल ये है कि ईंट का जवाब पत्थर से देने का सिलसिला कब तक जारी रहेगा।

ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी के बगदाद में अमेरिकी ड्रोन हमले में मारे जाने के बाद पूरे पश्चिम एशिया में तनाव अपने चरम पर है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रंप ने कहा है कि उनका देश ईरान के साथ युद्ध शुरू नहीं करना चाहता है लेकिन अगर इस्‍लामिक देश ने कोई जवाबी कार्रवाई की तो अमेरिका इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। ट्रंप ने ड्रोन हमले के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में कहा, ‘कासिम सुलेमानी की हत्‍या ईरान के साथ विवाद बढ़ाने के लिए नहीं की गई है।