वाराणसी के मदरसों में भी शान से लहराया गया तिरंगा

वाराणसी । मदरसों में स्वतंत्रता दिवस अनिवार्य तौर पर मनाए जाने और इसकी फोटो और वीडियो रिकॉर्डिंग को सप्ताह भर में समाजकल्याण विभाग को सौंपने के शासन के फैसले के बीच पूर्वांचल के मदरसों में धूमधाम से स्वतंत्रता दिवस मनाया गया।

आजादी की वर्षगांठ मनाने के साथ ही मदरसों में झंडारोहण के बाद कौमी तराने भी गूंगे। वाराणसी, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर व भदोही आदि पूर्वांचल के मुस्लिम बहुल जिलों में भी मदरसों में स्वतंत्रता दिवस के आयोजन धूमधाम से किए गए। वहीं वाराणसी में मुस्लिमो ने तिरंगा यात्रा निकाल आजादी के जश्न को यादगार बनाया।

अमूमन पूर्वांचल के सभी मदरसों में तय समय पर झंडारोहण के बाद देशभक्ति के गीत गूंजे और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया।

राष्ट्रगान पर बजरडीहा में रही विवाद की स्थिति: वाराणसी में बजरडीहा स्थित हनफिया उस्मानिया मदरसा में चर्चा रही कि राष्ट्रगान नही हुआ मगर इसपर स्थिति प्रधानाचार्य मोहम्मद याकूब ने स्पष्ट करते हुए कहा कि प्रबंधक ने मोहल्ले वासियों के दबाव में ऐसा कहा था। राष्ट्रीय महत्व के दिवसों पर यहां राष्ट्रगान अवश्य होता है।