प्रयागराज : शिक्षा अधिकारी परीक्षा में अभ्यर्थी की जगह सॉल्वर बैठाकर परीक्षा दिलाने वाले दो गिरफ्तार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने रविवार को उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित खंड शिक्षा अधिकारी परीक्षा में वास्तविक अभ्यर्थी की जगह सॉल्वर बैठाकर परीक्षा दिलवाने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया। दोनों को प्रयागराज जिले में रसूलाबाद स्थित चिन्मयानन्द विद्यालय में बनाए गए परीक्षा केंद्र से गिरफ्तार किया गया।

एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट ने परीक्षा के एक अभ्यर्थी धीरेन्द्र मौर्य और उसके स्थान पर बैठाए गए सॉल्वर (प्राक्सी कैंडीडेट) सुधीर पटेल को गिरफ्तार किया। सुधीर प्रयागराज जिले के मेजा इलाके में स्थित टुडियार श्रीकपूरा का रहने वाला है, जबकि धीरेन्द्र हंडिया क्षेत्र के सराय ममरेज स्थित मवैया हिन्दुवानी का रहने वाला है।

दोनों के कब्जे से दो फर्जी मतदाता पहचान पत्र, 13 रंगीन पासपोर्ट फोटो (एक वास्तविक अभ्यर्थी का मिक्सिंग किया गया फोटो), एक ड्राइविंग लाइसेंस, एक आधार कार्ड, तीन एटीएम कार्ड, दो मोबाइल फोन व 37710 रुपये नकद बरामद हुए हैं। अभियुक्त सुधीर पटेल ने पूछताछ में बताया कि वह जय मां अंबे स्टडी सेंटर में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है।

इस कोचिंग सेंटर के संचालक और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में परीक्षा पास कराने का ठेका लेने वाले आशुतोष नाथ के माध्यम से उसकी मुलाकत अभ्यर्थी धीरेन्द्र मौर्य से हुई थी। धीरेन्द्र जिला न्यायालय में बाबू के पद पर तैनात है। आशुतोष नाथ से इस परीक्षा में बैठने के लिए 50 हजार रुपये देने की बात तय हुई थी। अग्रिम में तीन रुपये मिले थे। शेष 47 हजार रुपये परीक्षा समाप्त होने के बाद मिलने थे।