दो दिवसीय प्रशिक्षण एवं उन्मुखीकरण कार्यक्रम सम्पन्न

खण्डवा @ किशोर न्याय (बालकों की देखरेख और संरक्षण) अधिनियम 2015, समेकित बाल संरक्षण योजना एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण एवं उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन जिला महिला सशक्तिकरण विभाग खण्डवा द्वारा अधिनियम के तहत् कार्यरत संस्था हिन्दू बाल सेवा सदन में किया गया है। कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि रेखा आर चंद्रवंशी प्रधान मजिस्ट्रेट किशोर न्याय बोर्ड एवं जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी, पूनमचंद यादव द्वारा किया गया। प्रधान न्यायधीश द्वारा किशोर न्याय बोर्ड तथा विधि विरूद्ध बालको के संबंध अपनायी जाने वाली प्रकिया पर विस्तार से व्याख्यान दिया। जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी खण्डवा द्वारा बच्चो के लिए इस अधिनियम की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला गया।

संस्था अध्यक्ष कमलेश चंद हूमड़, प्रकाशचंद बाहेती ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यशाला के द्वितीय दिवस में जिला कार्यक्रम अधिकारी, संजय भारद्वाज द्वारा उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों को अधिनियम के प्रावधानो से अवगत कराया तथा अशोक मिश्रा, सामाजिक कार्यकर्ता के द्वारा भी प्रशिक्षणार्थियो को संबोधित किया गया। साथ ही अधिवक्ता रविन्द्र झंवर द्वारा पाक्सो अधिनियम पर व्याख्यान दिया गया। इस अवसर पर अधिनियम के तहत पंजीकृत संस्थाओ के अधीक्षक, विशेष किशोर पुलिस इकाई, स्टॉफ, चाईल्ड लाइन, एवं अन्य सामाजिक कार्यकर्ता, विभिन्न विभागो के अधिकारी, थानो के बाल कल्याण अधिकारी, सामाजिक कार्यकर्ता, एवं स्कूल के बच्चे उपस्थित रहे। कार्यक्रम के द्वितीय दिवस का समापन मंगलवार को प्रतिभागियों को प्रमाण पत्रों के वितरण के साथ किया गया तथा दो दिवसीय कार्यक्रम का संचालन एंव प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर द्वारा दिया गया।