वर्चस्व को लेकर कैदियों के दो गुट भिड़े, शौचालय में लगा पत्थर उखाड़ कर हमला किया, हालत गंभीर

प्रयागराज। जिले में स्थित केंद्रीय कारागार नैनी में गुरुवार को कैदियों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार सर्किल पांच के बैरक नंबर छह में कैदियों के बीच मारपीट हुई। इसमें एक विचाराधीन कैदी के सिर पर पत्थर लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल कैदी को पहले जेल अस्पताल और फिर वहां से एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। जेल वार्डेन ‌की तरफ से हमला करने वाले कैदी के खिलाफ नैनी कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

केंद्रीय कारागार नैनी के चक्र संख्या पांच के बैरक दो में विचाराधीन बंदी ज्ञान सिंह (32 साल) बंद है। वह कौंधियारा क्षेत्र के सेमरी शांतिनगर का रहने वाला है। इसी बैरक में हत्या का आरोपी दानपुर चकिया का रहने वाला अरविंद पासी भी बंद है। दोनों के बीच वर्चस्व को लेकर कई बार विवाद हो चुका है। पिछले एक हफ्ते में दो बार दोनों के बीच झगड़ा हो चुका है।

गुरुवार को दोपहर बाद फिर दोनों में विवाद हो गया। जिसमें दोनों पक्ष के समर्थक बंदी भी आ गए और मारपीट हो गई। इसमें विचाराधीन बंदी ज्ञान सिंह के सिर पर पत्थर से वार करके गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। जेल प्रशासन के मुताबिक ढाई बजे दोपहर में बंदी ज्ञान सिंह बैरक के शौचालय में शौच करने बैठा था। उसी दौरान अरविंद पासी वहां पहुंचा और शौचालय में लगा पत्थर उखाड़कर ज्ञान सिंह के सिर पर मार दिया, जिससे ज्ञान सिंह का सिर फट गया और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। एसआरएन अस्पताल में भर्ती ज्ञान सिंह की हालत नाजुक बनी हुई। वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने बताया कि हमला करने वाले कैदी के खिलाफ नैनी कोतवाली में एफआईआर दर्ज करा दी गई है।