मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 226 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

 प्रतापगढ़ :मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत जनपद प्रतापगढ़ में विधायक सदर, विधायक रानीगंज, विधायक विश्वनाथगंज, भाजपा जिलाध्यक्ष, जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधिगण व गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत जनपद प्रतापगढ़ को आज वह गौरव प्राप्त हुआ जिसमें गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले कुल 226 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे जिनमें 14 जोड़े मुस्लिम परिवार से सम्बन्धित थे। जी0आई0सी0 के प्रांगण में एक भव्य पण्डाल के रूप में कुल 60 विवाह मण्डप सजाये गये थे और हर मण्डप में क्रमबद्ध तरीके से जोड़ो का पूरे विधि विधान के तहत शादी अनुष्ठान सम्पन्न हुआ। प्रत्येक मण्डप में एक-एक आचार्य और मुस्लिम विवाह के रीति रिवाजों के तहत मौलवी द्वारा निकाह करायी गयी। प्रातः 10 बजे से ही पूरा जी0आई0सी0 प्रांगण विवाह के रौनक के वातावरण में सराबोर था। ठीक 10 बजे हर मण्डप में पण्डित आचार्य विवाह के पूरे सामान सहित उपस्थित हो गये थे। मुख्य पण्डाल के मंच पर आचार्य पूरे शादी अनुष्ठान को केन्द्रित रूप में सम्पन्न करा रहे थे। ठीक 11 बजे द्वार पूजा की रस्म पूर्ण हुई और इसके बाद हर मण्डपों में विवाह अनुष्ठान प्रारम्भ हो गया। कुल 12 सेक्टर आफिसर जिला प्रशासन द्वारा तैनात किये गये थे जिनके जिम्मे 5-5 मण्डप दिये गये थे जहां कि सम्पूर्ण व्यवस्था का दायित्व सेक्टर आफिसर को दिया गया था।
विधायक सदर संगम लाल गुप्ता, विधायक रानीगंज धीरज ओझा, विधायक विश्वनाथगंज डा0 आर0के0 वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष हरिमओम मिश्रा, जिलाधिकारी शम्भु कुमार, मुख्य विकास अधिकारी राजकमल यादव व उनकी पत्नी ज्योत्सना यादव के साथ इस पूरे वैवाहिक अनुष्ठान में वर-वधू को अपना आर्शीवाद दिये। जिलाधिकारी ने अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के बारे में विस्तार से प्रकाश डालते हुये कहा कि मुख्यमंत्री जी की इस महत्वाकांक्षी योजना की जितनी तारीफ की जाये कम है। इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवार पात्रता की श्रेणी में आते है जिनकी शादी के लिये कन्या को 20000 रू0 का अनुदान सीधे उनके खाते में जमा कराया जाता है जबकि 10000 रू0 का उपहार प्रदान किया जाता है। उन्होने योजना की तारीफ करते हुये कहा कि सामाजिक समरसता की दिशा में यह योजना वरदान सावित होगी। यह अनवरत चलने वाली प्रक्रिया है। उन्होने कहा कि जनपद प्रतापगढ़ को आज यह गौरव प्राप्त हो गया कि जनपद में 226 सामूहिक विवाह योजना के तहत कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया।
इस अवसर पर जोड़ो के लिये विधायक सदर संगम लाल गुप्ता ने एक-एक प्रेशर कुकर की सुविधा जहां उपलब्ध करायी वहीं जिला प्रशासन की तरफ से एक-एक कम्बल उपलब्ध कराया गया। इसके अलावा जिला ऊमरवैश्य समाजसभा प्रतापगढ़ के संरक्षक रोशन लाल ऊमरवैश्य की अगुवायी में उनके पदाधिकारी गुलाबचन्द्र, देवेन्द्र कुमार, शोभनाथ, हनुमान प्रसाद, मदन लाल, मनोज कुमार आदि ने 11 हजार रू0 उपहार स्वरूप दिये एवं अन्य जनप्रतिनिधिगणों एवं गणमान्य नागरिकों ने भी स्वरूप सहयोग राशि प्रदान की।
नगर क्षेत्र ही नही बल्कि जनपद की सबसे पुरानी बकरीदी बैण्ड पार्टी द्वारा अतिथियों एवं बारातियों तथा नवदम्पत्तियों के स्वागत में जहां स्वागत गीत की धुन बजायी गयी वहीं शादी के विभिन्न अनुष्ठानो पर द्वार पूजा से लेकर विदायी तक के धुन का प्रदर्शन कर इस बैण्ड पार्टी ने शमा बांध दिया। नेहरू युवा केन्द्र के कलाकारो ने इस अवसर पर अपनी अनेक मनोहारी प्रस्तुतियों द्वारा कार्यक्रम में चार-चांद लगा दिया।
वैवाहिक अनुष्ठान के अन्त में मंच पर नवविवाहित दम्पत्तियों को जिलाधिकारी श्री शम्भु कुमार, मुख्य विकास अधिकारी राजकमल यादव, विधायक डा0 आर0के0 वर्मा ने मंच पर वर-वधू को आर्शीवाद दिया और उन्हें सरकार, जिला प्रशासन की ओर से शादी का उपहार प्रदान किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी शम्भु कुमार जी की माता जी एवं उनकी पत्नी डा0 स्निग्धा रश्मि की माता जी ने भी वर-वधू का अपना आर्शीवाद दिया। कार्यक्रम में मंत्री डा0 महेन्द्र सिंह जी के प्रतिनिधि दिनेश शर्मा, पर्यावरण सेना के अजय क्रान्तिकारी सहित अन्य सम्भ्रान्त लोग उपस्थित रहे। [ब्यूरो रिपोर्ट प्रतापगढ़]