केन्द्रीय मंत्री वीके सिंह ने गावों के सर्वागीण विकास का आवाहन किया

गाज़ियाबाद@ केन्द्रीय मंत्री वी0के0 सिंह ने पंचायती राज व्यवस्था में चुने गये सभी जन प्रतिनिधियों विशेष रूप से ग्राम प्रधानों का आहवान किया है कि वह अपने ग्रामों का सर्वागीण विकास करके ऐसा बदलाव लाए कि गॉव के लोग शहर की ओर पलायन न करें। गॉवों मे बिजली, पानी , स्वच्छता, शिक्षा, सडकें आादि मूल भूत सुविधाएं उपलब्ध होगी तो कोई कारण नही कि लोग गॉव से शहर की ओर आएगे। इसके लिए ग्राम प्रधानों केा विकास कार्यो में पारदर्शिता लानी होगी तथा सभी ग्राम वासियों का गॉव के विकास मे योगदान सुनिश्चित कराना होगा। गॉव में कराए गए विकास कार्याे में हर गॉव वासी को अपनी सहभागिता महसूस होनी चाहिए।

श्री सिंह आज स्थानीय लोहियानगर में हिन्दी भवन सभागार में आयोजित पंचायत सम्मेलन को सम्बोधित कर रहें थें। उन्होने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि दृढ इच्छा शक्ति व संकल्प के साथ काम करने से कोई कार्य असम्भव नही होता है।
श्री सिंह ने समाज सेवी अन्ना हजारे के महाराष्ट्र के गाँव का उदाहरण देते हुए कहा कि जब हजारे जी अपने गॉव रिटायर होकर पहुचे तो कुछ भी नही था लेकिन उनकी इच्छा शक्ति एवं संकल्प ने गॉव का चतुर्दिक विकास करके दिखा दियां।
प्रारम्भ में वह अकेले ही चले लेकिन कुुछ ही महीने में गॉव के लोग उनसे जुडते गये और उनके गॉव में जहॉ पहले 300 एकड में खेती होती थी वहॉ 3000 एकड मे खेती होेने लगीं। खेती में एक की जगह तीन फसले उगाई जाने लगी। आज उनके गॉव से प्रतिदिन 1500 लीटर दूध बिक्री होता है।

केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह ने गुजरात प्रान्त के भी कुछ गॉवों के उल्लेखनीय विकास के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ऐसे गॉवो का विकास वहॉ के पचायंत प्रतिनिधियों के द्वारा ही किया गया उन्होने कहा कि जनप्रतिनिधियेा विशेष रूप से पंचायत प्रतिनिधियो को सोचना चाहिए कि कैसे उनके गॉव में हर आवासहीन व्यक्ति के पास पक्का मकान हो, हर घर मे शौचालय हो, घर-घर मे बिजली हो, गॉव की सडके पक्की हो, तालाब मे पानी हो, शिक्षा के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त विद्यालय हो, इन सब चीजो के लिए शासन की अनेक योजनाए संचालित है ग्राम पंचायतो के पास धन भी है आवश्यकता ऐसी सोच को जन सहयोग से मूर्त रूप से देने की है।

इस अवसर पर प्रदेश के खाद्य एवं रसद राज्य मंत्री अतुल गर्ग ने कहा कि वर्तमान केन्द्र व प्रदेश सरकार के समय बदले माहौेल में स्वतंत्र रूप से कार्य करने का मौका अधिकारियों कर्मचारियों को मिला है। उसका सदुपयोग करते हुए जनहित के कार्यो को अन्जाम दे। पंचायत प्रतिनिधि गांवों के वहुमुखी विकास में अपना योगदान दें। कार्यक्रम को विधायक सर्व श्री नन्द किशोर गुर्जर, श्रीमती मजू शिवाच, अजीतपाल त्यागी व सुनील शर्मा ने सम्बोधित करते हुये गावों के सर्वामीण विकास में पंचायत प्रतिनिधियों को योगदान देने की जरूरत बतायी।

इस अवसर पर श्री सिंह ने जनपद को खुले में शौचमुक्त बनाने में उल्लेखनीय योगदान देने वाले पंचायत प्रतिनिधियो अधिकारियों/कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र वितरित किये।