28 फरवरी तक बैंकों को दें अपने पैन नंबर की जानकारी

अगर आपने बैंक में PAN नंबर नहीं दिया है तो 28 फरवरी के बाद आपका बैंक अकाउंट फ्रीज हो सकता है। बैंकों ने अपने खाताधारकों को 28 फरवरी तक पैन डिटेल्‍स अपडेट कराने को कहा है। साथ ही, जिन लोगों के पास PAN कार्ड नहीं उन्हें फॉर्म-60 भरना होगा। सरकारी बैंकों ने अपने कस्‍टमर्स को पैन डिटेल्‍स मुहैया कराने के लिए लेटर भेज दिया है।
दरअसल विमुद्रीकरण के बाद 18 लाख खातों की जांच में सरकार को पता चला कि कई लोगों ने अपने बैकों में बड़े पैमाने पर लेनदेन तो किए लेकिन उनके पास कोई पैन नंबर है ही नहीं। इस आधार पर उन्हें पकड़ पाना काफी मुश्किल था क्योंकि वे आयकर रिटर्न ही दाखिल नहीं करते थे।

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने साफ कर दिया है कि अगर किसी बैंक अकाउंट के साथ पैन लिंक नहीं किया गया तो ग्राहकों को मुश्किल का का सामना करना पड़ सकता है। अगर आपके खाते का केवाईसी हुआ भी है तो भी अपने बैंक को पैन नंबर देना जरूरी कर दिया गया है।

बैंक की ओर से साफ किया गया है कि पैन डिटेल्‍स केवाईसी मानकों को पूरा करने वाले बैंक अकाउंट के लिए भी जरूरी है।जिन लोगों का पैन कार्ड नहीं है वे फार्म 60 भर कर जमा कर सकते हैं। फार्म 60 यह डिक्‍लेयर करने के लिए भरा जाता है कि मेरे पास पैन कार्ड नहीं है।

इनकम टैक्‍स डिपॉर्टमेंट ने बैंक और पोस्‍ट ऑफिस अकाउंट होल्‍डर्स के लिए 28 फरवरी तक अनिवार्य रूप से पैन डिटेल्‍स देने को कहा था। हां जनधन खातों के लिए पैन की अनिवार्यता नहीं है। ऐसा इसलिए कि इन खातों में 50,000 से ज्यादा जमा नहीं हो सकते और आयकर विभाग के नियमों के मुताबिक 50,000 से ज्यादा के लेनदेन पर पैन संख्या बताना ज़रूरी है।

आगे चलकर पैन को आधार संख्या के साथ भी जोड़ने की तैयारी है । आपके लिए अब काफी हद तक ये ज़रूरी हो गया है कि आप अपना पैन संख्या और आधार कार्ड बना लें। भविष्य में आपके रोजमर्रा की जिंदगी में ये दोनो की कार्ड बड़े अहम साबित होने जा रहे हैं।