यूपीः तीन तलाक के तीन नए मामले आए सामने

बरेली @ यूपी के बरेली में 24 घंटे के अंदर तीन तलाक़ के तीन सनसनीखेज मामले सामने आये है। 3 तलाक़ के मामले सामने आने के बाद सभी पीड़ित महिलाओ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी से इंसाफ की गुहार लगाई है।
पिता ने बड़े अरमान से बेटी की शादी की थी। लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही ये अरमान बिखर गए। बेटी रेशमा के हाथ पीले किए हुए अभी 6 महीने ही बीते थे कि पति ताहिर और ससुराल वालों का ऐसा सितम टूटा कि उसकी ज़िंगदी वीरान हो गई।

ये सितम कहर में तब तब्दील हो गया जब साल भर के भीतर ही उसकी गोद में एक नन्हीं सी गुड़िया ने आंखे खोली। ससुराल वालों के जुल्मो सितम के बीच नवजात बच्ची की परवरिश तब और मुश्किल हो गई जब बेटी बीमार पड़ी और ठीक से इलाज न मिल पाने के कारण उस मासूम ने दम तोड़ दिया।

कोख उजड़ी लेकिन घर उजड़ना भी किस्मत में था बतौर रेशमा जब एक रात वो अपने देवर की बदनीयती की शिकार हुई तो पति ने उसे ही कसूरवार ठहरा दिया। रक्षक पति भक्षक बन गया। मार पीटा कर उसे घर से निकाल दिया। फिर डाक से तीन तलाक का फरमान सुना दिया। रेशमा ने पुलिस से गुहार लगाई और मामला दर्ज हुआ।

बरेली की ही बेबी अफरोज की ज़ुल्म की दास्तां दिल दहला देने वाली है। अफरोज़ की शादी 2010 में मुहम्मद हारुन के साथ हुई थी। शादी के बाद एक बेटी पैदा हुई तो पति और ससुराल वालों का उसके प्रति रवैया ही बदल गया।

उसके साथ मार पीट शुरू हो गई और बेटी के दिल में छेद की खबर ने तो ज़िंदगी की बदल दी। तभी एक बार फिर वो उम्मीद से हुई तो ससुराल वालों ने बेटे की उम्मीद पाल ली। उनकी उम्मीदें टूटी तो तीन तलाक देकर घर से बाहर कर दिया।

वाजिदा तबस्सुम का निकाह पीलीभीत के सैयद अहसान अली के साथ बड़ी धूमधाम से हुआ था। शादी के 4 महीने बाद अहसान अली और उसके घर वालों ने पति के 4 लाख रूपए की मांग रख दी। पिता को बेटी की खुशियां प्यारी थी बड़ी मशक्कत के बाद 1 लाख रूपए का इंतेज़ाम किया। लेकिन देहज लोभियों के लिए ये रकम बेमानी थी और उसे मार पीट कर घर से निकाल दिया। तबस्सुम के घर वाले जब दामाद को समझाने गए तो पता चला कि पति ने तलाक दे दिया।

रोंगटे खड़े कर देनी वाली ये महज़ तीन कहानियां जो तीन तालक के भेंट चढ़ गई हैं। कुछ मुस्लिम संगठनों के विरोध के बावजूद भी औरतों की ज़िंदगियों से खेलवाड़ करने वाला ये प्रचलन धड़ल्ले से जारी है। ये महिलाएं सरकार से मामले में हस्तक्षेप कर इंसाफ की भीख मांग रही हैं।