मुज़फ़्फ़रनगर ट्रेन दुर्घटना: घायलों को अस्पताल से मिली छुट्टी, 4 रेलवे अधिकारी निलंबित

उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में घायल हुए 50 से अधिक यात्रियों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। अन्य घायलों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज जारी है। मेरठ और मुज़फ़्फ़रनगर के विभिन्न अस्पतालों में 100 से अधिक यात्री अब भी इलाज करवा रहे हैं।सरकार की तरफ से घायलों और उनसे मिलने पहुंचने वाले उनके परिजनों के खाने पीने का भी उचित इंतज़ाम किया गया है।

इससे पहले उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में मिले प्राथमिक सबूतों के आधार पर जवाबदेही तय करने के रेल मंत्री के निर्देश के बाद त्वरित कार्रवाई के तहत सरकार ने चार रेलवे अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। निलंबित होने वालों में जूनियर इंजीनियर, सीनियर सेक्शन इंजीनियर, असिस्टेंट इंजीनियर और सीनियर डिवीजन इंजीनियर शामिल हैं।
मुख्य ट्रैक इंजीनियर का तबादला कर दिया गया है वहीं उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक, डीआरएम दिल्ली औप रेलवे बोर्ड सदस्य इंजीनियर को भी छुट्टी पर भेज दिया गया है।

मेरठ और मुज़फ़्फ़रनगर के विभिन्न अस्पतालों में 100 से अधिक यात्री अब भी इलाज करवा रहे हैं

दरअसल रविवार को मुज़फ़फ़रनगर के खतोली में हुए इस दर्दनाक हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 200 से अधिक यात्री घायल हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश में उत्कल एक्सप्रेस की बोगियां पलटने के मामले में लापरवाही बरतने के लिए अज्ञात लोगों के ख़िलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि घटना की विस्तृत जांच की जाएगी। राहत और बचाव का काम पूरा कर लिया गया है। इस रेलखंड पर रेल पटरियों के मरम्मत का काम जारी है।

4 रेलवे अधिकारी निलंबित

उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में प्राथमिक सबूतों के आधार पर सरकार ने चार रेलवे अधिकारियों को निलंबित किया, मुख्य ट्रैक इंजीनियर का तबादला, उत्तर रेलवे के जीएम और डीआरएम को भी छुट्टी पर भेजा गया, हादसे में 22 लोगों की हुई मौत, 203 घायल।

उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में मिले प्राथमिक सबूतों के आधार पर सरकार ने चार रेलवे अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। निलंबित होने वालों में जूनियर इंजीनियर, सीनियर सेक्शन इंजीनियर, असिस्टेंट इंजीनियर और सीनियर डिवीजन इंजीनियर शामिल हैं। मुख्य ट्रैक इंजीनियर का तबादला कर दिया गया है वहीं उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक और डीआरएम दिल्ली को भी छुट्टी पर भेज दिया गया है।

रविवार को मुज़फ़फ़रनगर के खतोली में हुए इस दर्दनाक हादसे में 22 लोगों की मौत हो गई जबकि 200 से अधिक यात्री घायल हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश में उत्कल एक्सप्रेस की बोगियां पलटने के मामले में लापरवाही बरतने के लिए अज्ञात लोगों के ख़िलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि घटना की विस्तृत जांच की जाएगी। राहत और बचाव का काम पूरा कर लिया गया है। इस रेलखंड पर रेल पटरियों के मरम्मत का काम जारी है।