उत्तर प्रदेश: कैफियत एक्सप्रेस पटरी से उतरी

जानकारी के मुताबिक, कानपुर और इटावा के बीच आने वाले अछल्दा रेलवे स्टेशन के बीच वीरपुर गांव के पास यह हादसा हुआ है। यहां एक डंपर रेलवे ट्रैक को पार कर रहा था, उसी वक्त तेज रफ्तार में निकल रही कैफियात एक्सप्रेस ट्रेन उससे टकरा गई, जिससे करीब 10 डिब्बे पटरी से उतर गए। कई लोगों के घायल होने की आशंका, अब तक किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं, 80 घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है और मामूली तौर पर घायल हुए लोगों का मौके पर ही इलाज किया जा रहा है।

रेलवे ऑफिशियल्स के मुताबिक, हादसे में अभी तक किसी के मारे जाने की खबर नहीं है। अछल्दा के हेल्थ सेंटर पर करीब 50 से ज्यादा मरीज लाए गए हैं। जबकि, सेंटर की कैपेसिटी 15 से 20 मरीज एक साथ देख पाने की है। अब कानपुर और इटावा से डॉक्टरों की टीम को बुलाया गया है।

औरेया रेल हादसे में घायलों के इलाज के लिए सैफई मिनी पीजीआई ने इमरजेंसी कंट्रोल रूम नंबर 05688276566 जारी किया है।

रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा: प्रिंस‍िपल होम सेक्रेटरी

प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम अरविंद कुमार ने बताया, ”मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर कैफियात एक्सप्रेस (12225) का एक्सीडेंट हुआ है। एक लोडर (डंपर) HR63 B 9175 ट्रैक के काम के लिए बालू लेकर जा रहा था। डंपर पलटने से ये ट्रैक पर आ गया। इसके बाद हादसे में ट्रेन की 1 बोगी भी पलट गई, जबकि 3 बोगियां डिरेल हुई हैं।”

”कैजुअलिटी की कोई खबर नहीं है। डीएम और एसपी स्पॉट पर हैं। औरेया, इटावा और कन्नौज से एम्बुलेंस की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं। NDRF की टीम लखनऊ से रवाना हो गई है।”

”रिपोर्ट्स के मुताबिक, ट्रेन के 2 ड्राइवर जख्मी हुए हैं। 1 के सिर में चोट लगी है। 74 पैसेंजर्स को हल्की चोटें आई हैं, जिसमें 4 की हालत गंभीर है। 2 को इटावा तो 2 लोगों को सैफई रेफर किया गया है। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हो गया है।”

एडीजी कानपुर अविनाश चंद्र ने बताया, ”रात 2 बजकर 40 मिनट पर डंपर ट्रैक पर पलट गया और 2 बजकर 45 मिनट पर कैफियत एक्सप्रेस आ गई। 5 मिनट का अंतराल होने के कारण ट्रैक खाली नहीं कराया जा सका और ये हादसा हो गया।”

ट्रेन का रूट क‍िया गया डायवर्ट

कानपुर-टुंडला सेक्शन की सभी पैसेंजर ट्रेनों को कैंस‍िल कर द‍िया गया है। वहीं, दिल्ली और हावड़ा के मेन लाइन होने की वजह से 7 ट्रेनों के रूट को डायवर्ट कर द‍िया गया है।
स्टेशन सुपर‍िटेंडेंट आरपी त्रिवेदी ने बताया क‍ि इस दुर्घटना की वजह से राजधानी, शताब्दी को लखनऊ-मुरादाबाद रुट से दिल्ली भेजने की तैयारी है। वहीं, कुछ ट्रेनों को कन्नौज, फर्रुखाबाद के रास्ते दिल्ली भेजा जाएगा।