विपक्ष के तीन विधायकों का इस्तीफा

उत्तर प्रदेश में विपक्षी दलों में बगावत के सुर दिख रहे हैं। विधान परिषद के तीन विपक्षीय सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं दो नेताओं ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी प्रशंसा। साथ ही साथ समाजवादी पार्टी नेता शिवपाल यादव ने अखिलेश को नए गुट बनने की संभावना से चेताया।

बिहार में महागठबंधन खत्म होने के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी दलों के भीतर फूट पड़ती नजर आ रही है। उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव ने सपा के दो और बसपा के एक एमएलसी का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। सपा नेता बुक्कल नवाब और यशवंत सिंह तथा बसपा के ठाकुर जयवीर सिंह के इस्तीफे मंजूर कर लिये गये हैं। सपा के प्रवक्ता बुक्कल नवाब ने अपने पद से इस्तीफा देकर पार्टी को बड़ा झटका दे दिया है।

राष्ट्रीय शिया समाज के संस्थापक बुक्कल नवाब ने इस्तीफे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की तारीफ की । वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव ने कहा कि अखिलेश यादव के पास अभी भी मौका है कि वो मुलायम सिंह को नेतृत्व सौंप दें। उन्होंने आगाह करते हुए कहा कि पार्टी में असंतुष्ट नेताओं की संख्या बढ़ रही है और साथ ही यह आशंका जतायी कि वे नई पार्टी बना सकते हैं।